खतरे से बाहर:अंसुला में मृत्युभोज के बाद फूड पॉइजनिंग के शिकार सभी लोग स्वस्थ

महासमुंद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बुधवार शाम को मृत्युभोज के बाद बड़ी संख्या में फूड पॉइजनिंग से ग्रसित लोग अभी स्वस्थ हैं और खतरे से बाहर हैं। अच्छी बात यह रही कि सभी को समय पर इलाज मिलने के कारण सभी स्वस्थ हैं और किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना अभी तक नहीं हुई है। फूड पॉइजनिंग से बहुत से लोगों के प्रभावित होने के चलते जिला प्रशासन मामले को गंभीरता से लेते हुए सभी पहलुओं पर जांच कर रही है।

बता दें कि बुधवार दोपहर अंसुला प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक दिलीप साहू की माताजी के निधन के बाद दोपहर दशगात्र के अवसर पर भोज करने अंसुला सहित आसपास के ग्रामीण व बच्चे शामिल हुए। भोजन के कुछ देर बाद अचानक एक के बाद एक शामिल ग्रामीण व बच्चों को दस्त होने लगे व कुछ को उल्टियां भी होने लगी थीं। आनन-फानन में बच्चों व ग्रामीणों को पिथौरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। भोज में फुटू (मशरूम) परोसे जाने को ही फूड पॉइजनिंग की आशंका बताई जा रही है। पिथौरा सीएचसी में भर्ती 46 मरीजों की हालत रात में ही ठीक हो गई थी और अधिकतर घर भी चले गए थे।

खबरें और भी हैं...