जागरूकता जरूरी:दूसरी डोज का टीका लगवाने रोज 100 लोगों को कर रहे कॉल, आ रहे सिर्फ 10

महासमुंद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दूसरी डोज का टीका लगवाने कम पहुंच रहे लोग। - Dainik Bhaskar
दूसरी डोज का टीका लगवाने कम पहुंच रहे लोग।
  • जिले में 7.2 लाख में से सिर्फ 2.7 लाख को ही लगाया जा सका है दूसरी डोज का टीका

जिले में कोरोना टीकाकरण की पहली डोज सभी लोगों को लगा दी गई है। पहली डोज का टीकाकरण जिले में शतप्रतिशत से भी ज्यादा है, लेकिन वर्तमान में कोरोना केसेस के कम होने के चलते लोग लापरवाही करते हुए दूसरी डोज के लिए टीकाकरण सेंटर नहीं पहुंच रहे हैं। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी रोजाना लोगों को फोन कर टीका लगाने के लिए फोन कर रहे हैं, इसके बाद भी लोग टीका लगवाने नहीं पहुंच रहे हैं।

रोजाना जहां भी टीकाकरण सत्र आयोजित किया जा रहा है वहां और उसके आसपास के गांव के लोगों को फोन किया जा रहा है। 100 लोगों को फोन लगाने पर सिर्फ 10 लोग ही टीका लगाने पहुंच रहे हैं। अधिकतर लोगों का बहाना अभी काम पर हूं, बाद में लगवाउंगा रहता है। वहीं कई लोगों के नंबर पर कॉल ही नहीं जा रहे हैं। अब विभाग दूसरी डोज के लिए भी लोगों को घर-घर जाकर प्रेरित करने का प्लान बना रहा है। फोन कॉल्स पर अच्छे रिस्पॉन्स नहीं होने के चलते विभाग दूसरी डोज के लिए भी लोगों के घरों तक संपर्क किए जाने का प्लान है।

सिर्फ 38 फीसदी लोगों को लगी दूसरी डोज
बुधवार तक की स्थिति में जिले में सिर्फ 38 फीसदी लोगों को कोरोना टीके की दूसरी डोज लगाई गई है। टीकाकरण के लिए 18 प्लस व 45 प्लस कैटेगरी के 722575 लोगों को चिन्हांकित किया गया था। जिनमें से अधिकतर लोगों को तो पहली डोज का टीका लगा लिया गया है, लेकिन दूसरी डोज का टीका सिर्फ 277303 लोगों को ही लगाया गया है।

गुरुवार को लगभग 8 हजार को लगा टीका
गुरुवार को भी जिले में बहुत से स्थानों पर टीकाकरण किया गया। लगभग 8 हजार लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया, जिसमें से अधिकतर दूसरी डोज के ही रहे। जिले में अभी वैक्सीन की स्टॉक भी पर्याप्त है। त्योहारी सीजन के चलते भी कम लोग ही टीकाकरण सेंटर पहुंच रहे हैं। जिले में अभी 70 हजार से अधिक टीके का स्टॉक उपलब्ध है।

लोग लापरवाही न करें: टीकाकरण अधिकारी
जिला टीकाकरण सलाहकार डॉ. मुकुंद राव घोड़ेसवार कहते हैं कि पहली डोज के मुकाबले जिले में दूसरी डोज लगाने लोग कम संख्या में आ रहे हैं। लोग कोरोना के बहुत कम केस देखकर लापरवाही कर रहे हैं। समझ रहे हैं कि उनके लिए 1 डोज ही पर्याप्त है। जबकि दोनों डोज बहुत जरूरी है। आगे त्योहारों में यह लापरवाही कहीं लोगों को भारी न पड़ जाए।

आगे त्योहारी सीजन पर रहना होगा सचेत
गुरुवार से भारत में त्योहारी सीजन का दौर शुरू हो गया है। इन त्योहारों में लोग एक जगह से दूसरी जगह सफर करेंगे और अपने घर-परिवार व दोस्तों के साथ मेल-मिलाप बढ़ेगा। विभागीय अधिकारी कह रहे कि कोरोना से सुरक्षा के लिए टीके की पहली डोज तो कारगर है, लेकिन दूसरी डोज भी लोगों के जीवन के लिए उतना ही जरूरी है।

दूसरी डोज का 43 प्रतिशत टीका लगाने के साथ सरायपाली आगे
जिले को शतप्रतिशत वैक्सीनेटेड करने के क्रम में सबसे पहले निकाय और ब्लॉक स्तर पर सरायपाली ही आगे रहा है। दूसरी डोज में भी सरायपाली अभी आगे चल रहा है। सरायपाली के लक्षित 143704 लोगों में से 62130 यानि कुल 43 फीसदी लोगों को दूसरी डोज का टीका लगाया गया है। महासमुंद ब्लॉक में 185064 में से 70303 लोगों को यानि 38 फीसदी लोगों को दूसरी डोज का टीका लगाया गया है। जिले में दूसरी डोज भी सभी को लगाने में इस रफ्तार से काफी दिन लगेंगे।

खबरें और भी हैं...