पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संघर्ष के लिए बैठक:पेंशन नीति में कर्मचारियों के परिवार में बच्चे शामिल नहीं : राकेश

महासमुंद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • छग अंशदायी पेंशन कर्मचारी कल्याण संघ के प्रदेश अध्यक्ष बोले- पुरानी पेंशन कर्मचारियों के बुढ़ापे का सहारा

छग अंशदायी पेंशन कर्मचारी कल्याण संघ जिला इकाई की बैठक गुरु गोविंद सिंह उद्यान में हुई। बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह उपस्थित थे। वहीं विशेष अतिथि के रूप में प्रदेश मीडिया प्रभारी डिलेश्वर साव, विजेन्द्र देवांगन मौजूद थे। इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारणी में सिराज बख्श संयुक्त सचिव बनमोती भोई को संग़ठन मंत्री सह सचिव भानु प्रताप डड़सेना को संयुक्त सचिव बनाकर प्रदेश टीम में जवाबदारी दी गई। प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि एनपीएस वास्तव में कर्मचारियों के लिए एक गम्भीर मसला है। वर्तमान में हर माह कर्मचारियों को इससे बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। नई पेंशन नीति में परिवार की व्याख्या में सिर्फ पति पत्नी को रखा गया है जबकि कर्मचारियों के बच्चों को परिवार का सदस्य नहीं माना गया है।
बीपी मेश्राम बने जिला अध्यक्ष : बैठक में सबसे जिला कार्यकारणी महासमुन्द का गठन किया गया। इसमें जिला अध्यक्ष के रूप में बीपी मेश्राम को मनोनीत किया गया। वहीं जिला उपाध्यक्ष के पद पर चिंतामणि भोई व नितेश श्रीवास्तव का मनोनयन किया गया। अन्य पदाधिकारियों की घोषणा जिला जल्द की जाएगी । पुरानी पेंशन सही मायने में कर्मचारियों के बुढ़ापे का सहारा है लेकिन इस नीति में परिवार की व्याख्या में सिर्फ पति पत्नी को रखा गया है जबकि कर्मचारियों के बच्चों को परिवार का सदस्य नहीं माना गया है। । समय रहते हमें एकजुट होकर पुरानी पेंशन की बहाली के लिए ईमानदारी से प्रयास करना होगा तब जाकर हम कर्मचारियों को न्याय मिल पाएगा।
राकेश सिंह ने कहा कि नई पेंशन नीति में बहुत खामी है। अगर इस बात का अवलोकन किया जाए तो हर कर्मचारियों को सड़क पर उतर कर आवाज बुलंद करना होगा। इस दौरान पीताम्बर पाठक, सफीक खान, जितेंद्र चन्दरकर, तरुण मर्रई, गुरुजी धुर्व, चन्द्रशेखर डोरा चन्द्राकर, शेखर चंद्रकार, गणेश चन्द्राकर, डोमन लाल साहू, योगेश धृतलहरे, गजेंद्र टण्डन, एल साहू, पीएल धुर्व समेत अनेक लोग उपस्थित थे।

राजनेताओं को अपने लिए भी लागू करना चाहिए एनएसडीएल: प्रदेश प्रभारी
प्रदेश प्रभारी दिलेश्वर साव ने कहा कि देश में एक पेंशन नीति होनी चाहिए। अगर एनएसडीएल की पेंशन सही है तो इसे राजनेताओं को भी अपने लिए लागू करना चाहिए। साव ने कहा कि पुरानी पेंशन हर कर्मचारियों का हक है और इस अधिकार के लिए हमें एकजुट होकर आवाज बुलंद करने का संकल्प लेना होगा। बैठक को सम्बोधित करते हुए जिला अध्यक्ष बीपी मेश्राम ने कहा कि पुरानी पेशन कि लड़ाई हम सब की लड़ाई है हम सब को इस के लिए आगे आना होगा तभी हम सफल होंगे। बैठक को बनमोती भोई, नितेश श्रीवास्तव, सिराज बक्श, दिलीप साहू, चिंतामणि भोई, प्रकाश बघेल, आदित्य, गौरव साहू ने भी सम्बोधित किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें