पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मुसीबत:दवा से भी कम नहीं हो रहीं बीमारियां, सूख रही फसल

कोमाखान13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीमारियों के कारण धान की फसलें पीली होकर खेतों में इस तरह से गिर जा रही है
  • फसल को मौसम की मार और बीमारियों से बचाना किसानों के लिए बन गया चुनौती

इस साल अच्छी बारिश से जिलों के किसानों में अच्छी फसल की उम्मीद बंधी थी। लेकिन उनकी ये उम्मीद फसलों में लगने वाली बीमारियों ने तोड़ दी है। फसलों में लगने वाली बीमारियों को ठीक करने के लिए किसान बार-बार कीटनाशक का इस्तेमाल कर रहे हैं।

इसके बावजूद धान की फसलों में हर दिन नई-नई बीमारियां लग रही है। बीमारियों के कारण फसलें सूखकर खेतों में गिर रही हैं। किसानों के सामने मौसम की मार के बाद कीट व्याधि और अब इन फसलाें काे बीमारियों से बचाने की चुनाैती है। मौसम की मार सहते-सहते किसान इस बार लाचार और बेबस नजर आ रहा है।

4 से 5 बार दवाइयों का छिड़काव भी बेअसर

लिटियादादर के 65 साल के बुजुर्ग किसान दया राम चंद्राकर ने कहा कि कि इस बार मैंने अपनी जमीनों के अतिरिक्त और दूसरों की जमीन को मिला लगभग 25 से 30 एकड़ में इस बार धान की खेती की है। इस बार कीड़ों से बचाने के लिए लगभग 4-से 5 बार दवाइयों का छिड़काव कर चुका हूं। इसके बावजूद कोई फर्क नहीं पड़ रहा है।

9 बार छिड़काव, असर नहीं पड़ा

ग्राम पंचायत बटोरा के सरपंच प्रेमशंकर सिन्हा ने कहा कि मैंने 10 एकड़ की किसानी की है। मौसम की वजह से शुरू से ही कीड़ों का प्रकोप रहा।अभी तक लगातार 8 से 9 बार दवाइयों का छिड़काव कर चुका हूं, लेकिन ये बे असर रहा। ऊपर से लगातार बीच बीच में हो रही बारिश और हवा तूफान से फसल को बहुत जायदा नुकसान हो रहा है।

कम दिनों वाली फसल तो पक कर तैयार हो चुकी है. किन्तु खेतों में पानी होने के कारण उनकी कटाई में दिक्कत हो रही है। धान के पाैधे तेज हवाओं और बारिश की वजह से खेतों में गिर गए हैं। ऊपर से पानी होने के कारण उसमे भी ख़राब होने की संभावना बन रही है। ऐसे भी 4-5 महीनों के लॉकडाउन में सबकी हालात बहुत ख़राब हो चुकी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें