पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता:दुर्गा समितियों की पालिका व पुलिस के साथ बैठक, भीड़ नहीं जुटाने के निर्देश

महासमुंद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नवरात्र में मंदिर, दुर्गा पंडाल और दशहरा पर्व मनाने के लिए प्रशासन ने कुछ शर्तों के साथ छूट दी है। नगर पालिका प्रशासन, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और विभिन्न मंदिर, दुर्गा पंडाल तथा दशहरा उत्सव समिति की संयुक्त बैठक बुधवार को पालिका अध्यक्ष कक्ष हुआ। पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर ने सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी एसओपी की जानकारी सभी को दी। इसमें धार्मिक आयोजनों के लिए शासन के दिशा निर्देश की जानकारी साझा किया। नगर पालिका अध्यक्ष एवं जिला प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में मंदिर समिति, दुर्गा उत्सव समिति और दशहरा उत्सव समितियों की संयुक्त बैठक हुई। पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर और एसडीएम सुनील चंद्रवंशी ने ऐसे सार्वजनिक स्थलों में संक्रमण का प्रसार, रोकथाम एवं इससे बचाव को लेकर समितियों को सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर और भीड़भाड़ नहीं करने को कहा। इस दौरान पालिका अध्यक्ष चंद्राकर ने कहा कि दुर्गा पंडाल हो या मंदिर व्यवस्था बनाए रखने में जितनी जिम्मेदारी प्रशासन की है उतनी ही जिम्मेदारी समितियों की भी है।

तेजी से फैलेगा कोराना
उन्होंने कहा कि मंदिरों, पंडालों में प्रसाद वितरण करने से सभी को बचना चाहिए क्योंकि प्रसाद वितरण के दौरान श्रद्धालु संपर्क में आएंगे और एक भी व्यक्ति संक्रमित पाया गया तो संक्रमण का फैलाव तेज हो जाएगा। मंदिरों में सेवा कार्य में वाद्ययंत्र का उपयोग किया जा सकता है। सेवा कार्य में जुटे लोगों की संख्या सीमित हो। एसडीएम ने कहा किसी भी प्रकार का प्रदर्शन जैसे डीजे, जगह जगह स्पीकर बॉक्स का उपयोग न करें।

खबरें और भी हैं...