पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसानों की परेशानी:मेंटेनेंस के बाद भी भुईंया साॅफ्टवेयर बंद, किसानों के काम नहीं हो रहे, सॉफ्टवेयर बंद होने से पटवारियों की भी बढ़ी परेशानी

महासमुंद4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पटवारी कार्यालय में पहुंचे किसान। - Dainik Bhaskar
पटवारी कार्यालय में पहुंचे किसान।
  • इधऱ् 20 सितंबर तक करनी है गिरदावरी रिपोर्ट की एंट्री

भुईया साफ्टवेयर के बंद होने से गिरदावरी सहित अन्य काम रुक गया है, इससे पटवारियों व अन्य लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पटवारी कार्यालयों से लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। साफ्टवेयर बंद होने से गिरदावरी का काम भी रुक गया है।

20 सितंबर तक पटवारियों को गिरदावरी की पूरी रिपोर्ट साफ्टवेयर में एंट्री करनी है, लेकिन बंद होने से एंट्री का काम नहीं हो रहा है। बताया जा रहा है कि साफ्टवेयर को मेंटेनेंस के नाम पर 7 सितंबर से बंद कर दिया गया था। छुट्‌टी के बीच मेंटनेंस का काम किया गया है, लेकिन सोमवार से काम सरकारी दफ्तरों व गिरदावरी का काम शुरू हो गया है, लेकिन जब पटवारी साफ्टवेयर में काम किए तो पता चला कि साफ्टवेयर अभी खुला ही नहीं है। वहीं मंगलवार को काम प्रभावित रहा। इस संबंध में महासमुंद एसडीएम भागवत जायसवाल ने बताया कि राज्यस्तर से साफ्टवेयर में प्रॉब्लम आ रही थी, इसे मेंटनेंस किया गया है, लेकिन पिछले दो दिन से सर्वर डाउन होने के कारण खुल नहीं रहा है। गिरदावरी का काम चल रहा है, जिसे देखते हुए सर्वर प्रॉब्लम की जानकारी दे दी गई है।

ये काम हो रहे प्रभावित : पटवारियों ने बताया कि प्रमुख काम गिरदावरी की एंटी करना है, जो 20 सितंबर तक पूरा करना जरुरी है। गिरदावरी की गई खसरों की एंट्री बाकी है। इसके साथ ही नामांतरण, बटांकन, ऑनलाइन संबंधित कार्य प्रभावित है। किसान व अन्य लोग पटवारी कार्यालय आ रहे है, लेकिन उन्हें सर्वर डाउन होने के कारण खाली हाथ ही लौटना पड़ रहा है।

किसान बोले-सर्वर डाउन हो गया कहते हैं पटवारी

पिटियाझर के किसान राजू ने बताया वह भुईंया में ऑनलाइन नामांतरण के लिए पटवारी कार्यालय आया था, लेकिन पता चला कि सर्वर डाउन है। सोमवार व मंगलवार से पटवारी कार्यालय का चक्कर काट रहा हूं। खेती किसानों का समय है, उसे छोड़कर आया हूं।

दो दिन से नहीं हो रहा काम

महासमुंद निवासी उपासना यादव ने बताया कि नामांतरण व डिजिटल नक्शा के लिए कुछ दिन पहले पटवारी को दिया था। सोमवार को आया तो पता चला कि सर्वर डाउन है। वापस लौट गया। दूसरे दिन मंगलवार को आया तो भी साफ्टवेयर का सर्वर डाउन है कहकर वापस भेज दिया।

गिदावरी के काम में आ रही दिक्कत

पटवारियों से चर्चा की बता तो बताया कि मेंटनेंस के नाम पर 7 सितंबर से साफ्टवेयर को बंद कर दिया गया है। सोमवार को साफ्टवेयर खुलने को था, लेकिन दो दिन हो गया है सर्वर डाउन हो गया है। सबसे प्रमुख काम गिरदावरी है। खसरों व फसलों की एंट्री भी करनी है। गिरदावरी किए गए खसरों की एंटी के लिए अब केवल 6 दिन ही समय शेष रह गया है।

खबरें और भी हैं...