शौचालय निर्माण घोटाला:टीम बनने के बाद भी नहीं हुई जांच

बसना(ग्रामीण)20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बसना ब्लॉक के ग्राम पंचायत गौरटेक में स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण घोटाले में 1 माह पहले ही ग्रामीणों ने कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ और एसडीएम कार्यालय में जांच को लेकर ज्ञापन सौंप दिया है। इसके बाद भी इसपर किसी तरह की जांच नहीं किए जाने से नाराज ग्रामीण गुरुवार को फिर से एसडीएम कार्यालय पहुंचकर तत्काल जांच कर कार्यवाही करने के लिए ज्ञापन सौंपा।

मामले में पहले की शिकायत के बाद जिला कलेक्टर कार्यकाल से जांच के लिए बसना जनपद पंचायत आदेश भी आ गया है। इसके लिए जनपद सीईओ ने जांच टीम भी गठित कर दी थी। इधर ग्रामीणों का आरोप है कि जांच के लिए आदेश होने के बाद भी जांच टीम गांव नहीं पहुंची है। जनपद के जांच अधिकारी पूर्व सरपंच रंगलता प्रधान और सचिव झसकेतन साहू को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत गौरटेक के ग्रामीणों ने स्वंय के लागत से शौचलाय का निर्माण किया था। अनुदान राशि आने के बाद प्रदान किए जाने की बात कही गई थी। ग्रामीणों का आरोप है कि राशि पंचायत में आने के बाद भी हमें नहीं दिया गया है, जिसे सरपंच व सचिव ने गबन कर दिया है।

खबरें और भी हैं...