40 बच्चों समेत 100 से ज्यादा को फूड पॉइजनिंग:पिथौरा के अंसुला में शिक्षक के घर मृत्यु भोज करने के बाद बिगड़ी सभी की तबीयत

महासमुंद/पिथौरा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में भर्ती बच्चे और उनके परिजन। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में भर्ती बच्चे और उनके परिजन।

जिले के पिथौरा ब्लॉक के ग्राम अंसुला में आज मृत्युभोज में शामिल सैंकड़ों लोगों को फूड पॉइजनिंग की शिकायत सामने आई है। इनका सांकरा सरकारी अस्पताल के साथ पिथौरा सीएचसी में इलाज किया जा रहा है। इधर बताया जा रहा है कि 100 से भी ज्यादा लोग फूड पॉइजनिंग के शिकार हुए थे।

मिली जानकारी के अनुसार ग्राम अंसुला के सरकारी प्राथमिक शाला के प्रधानपाठक दिलीप कुमार साहू की माताजी का दशगात्र कार्यक्रम आयोजित था, जहां लोगों को भोज में फुटू, चना के साथ चांवल परोसा गया। भोज में अंसुला के साथ आसपास के ग्राम पाटनदादर, कोरमाडीह व चारभाठा के लोग भी शामिल हुए। लोगों को भोजन के बाद उल्टी-दस्त जैसी समस्याएं शुरू हो गईं, लोगों को सांकरा अस्पताल के साथ पिथौरा सीएचसी में भर्ती किया गया। पिथौरा बीएमओ डॉ तारा अग्रवाल ने बताया कि गांव के 48 लोग पिथौरा सीएचसी और 12 लोगों को सांकरा स्थित सरकारी अस्पताल में किया गया, जिसमें वयस्कों के साथ करीब 40 बच्चे भी शामिंल रहे। हालांकि देर रात तक दोनों अस्पतालों से तबीयत ठीक होने के साथ ही लोगों को छुट्‌टी भी दी जाती रही। लोगों का स्वास्थ्य बिगड़ते देख 108 के साथ ही अंसुला निवासी राजू अग्रवाल के साथ क्षेत्र के जनपद सदस्य पुरषोत्तम धृतलहरे ने भी लोगों को अपने वाहन से अस्पताल पहुंचाने का काम किया।

अधिकारी पहुंचे मौके पर
पिथौरा तहसीलदार, बसना तहसीलदार व एसडीएम सरायपाली भी मौके पर पहुंची। कलेक्टर डोमन सिंह भी देर रात स्थिति का जायजा लेने पिथौरा और अंसुला पहुंचे। साथ ही स्थिति को संभालने व लोगों के इलाज के लिए उन्होंने जिला स्वास्थ्य की टीम को निर्देशित किया और सभी स्वास्थ्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचकर लोगों के स्वास्थ्य की स्थिति का जायजा लिया। वहीं स्वास्थ्य विभाग के एक्सपर्ट्स के अनुसार यह समस्या मशरूम(फुटू)के कारण होना बताया जा रहा है। हालांकि फूड पॉइजनिंग का मामला अन्य कारणों से भी हो सकता है।

खबरें और भी हैं...