पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शराब दुकान खुली देख भड़के लोग:रातों-रात एकता चौक से शराब दुकान का सामान शिफ्ट, त्रिमूर्ति कॉलोनीवासी बोले- बंद हो दुकान

महासमुंद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुबह त्रिमूर्ति कॉलोनी में शराब दुकान खुली देख भड़के लोग, विरोध जताने पहुंचे कांग्रेस व भाजपा के पदाधिकारी

तुमगांव रोड के एकता चौक में स्थित अंग्रेजी शराब दुकान को रातों रात हटाकर रविवार को त्रिमूर्ति कॉलोनी के आगे खोल दिया गया। सुबह जब कॉलोनीवासियों ने दुकान खुला देखा तो वे हैरान रह गए और विरोध में जमकर नारे बाजी की। कॉलोनीवासी सुबह से दुकान के सामने खड़े होकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर दुकान को बंद करा दिया। साथ ही लोगों ने वहां मौजूद कर्मचारियों को दुकान से भगा दिया। साथ ही त्रिमूर्ति कॉलोनी से दिनभर कोई न कोई व्यक्ति दुकान के सामने पहरा देता रहा, ताकि दुकान न खोली जा सके।

दरअसल, एकता चौक में स्थित अंग्रेजी शराब दुकान को हटाने के लिए वार्डवासी पिछले दो वर्षों से लामबंद थे। इसे लेकर शनिवार को दोबारा आंदोलन हुआ। पूर्व में दुकान हटाने के लिए दिए गए आश्वासन के बाद भी जब दुकान नहीं हटाई गई तो शनिवार को वार्डवासी फिर से आक्रोशित हो गए थे। वहीं संसदीय सचिव व महासमुंद विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर भी उनके साथ आ गए और शनिवार को दुकान खोलने से मना कर दिया। इसी के चलते आबकारी विभाग ने आनन-फानन में देर रात ही दुकान एकता चौक से त्रिमूर्ति कॉलोनी के पास एनएच-353 पर खोल दिया।

सुबह से दुकान के सामने डटे रहे वार्डवासी, इधर इस बार नेताओं का भी मिला समर्थन
इधर, त्रिमूर्ति कॉलोनी के समीप शराब दुकान खोलने की जानकारी मिलते ही वार्डवासियों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। वार्डवासी सुबह से ही दुकान के सामने डटे रहे। वहीं वार्डवासियों को स्थानीय नेताओं का भी समर्थन मिला और वे भी मौके पर पहुंचकर विरोध में शामिल हुए। रविवार को कॉलोनीवासी प्रमोद चंद्राकर, दाऊलाल चंद्राकर के साथ पूर्व विधायक डॉ विमल चोपड़ा, नपाध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर, महेन्द्र यादव, दिनेश, पार्षद मंगेश टाकसाले, रिंकू चंद्राकर, देवीचंद राठी, सोमेश दवे, गौरवजानी चंद्राकर, लोकेश चंद्राकर, रोहित चंद्राकर सहित अन्य लोग मौके पर पहुंचे और दुकान बंद कराकर कर्मचारियों को भगा दिया। इसके बाद घंटों दुकान के सामने विरोध प्रदर्शन करते हुए बैठे रहे। वार्डवासियों ने इस संबंध में जिला आबकारी विभाग के अधिकारियों के साथ ही कलेक्टर से भी बात की, लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे।

नगर पालिका से नहीं मिली अनुमति, फिर कैसे दुकान खोल रहे: पालिकाध्यक्ष
माैके पर पहुंचे नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर ने कहा कि त्रिमूर्ति कॉलोनी में दुकान खोलने के लिए आबकारी विभाग ने नगर पालिका से कोई अनुमति नहीं ली है। ऐसे में दुकान कैसे खोला जा रहा, ये समझ से परे है। उन्होंने कहा कि त्रिमूर्ति कॉलोनी में दुकान खोलने संबंधी निर्णय एकदम गलत है। जिस जगह में दुकान खुल रही है, वहां आवासीय कॉलोनी में लोग निवास करते हैं। इसके अलावा दुकान खुलने के बाद सड़क एकदम सकरी हो जाएगी और आए दिन सड़क हादसे होंगे। मामले में वार्ड पार्षद मंगेश टाकसाले ने कहा कि दुकान तो त्रिमूर्ति कॉलोनी के पास खुलने नहीं देंगे। दुकान खुलने से यहां का माहौल खराब हो जाएगा। आसपास का क्षेत्र शराबियों का अड्डा बना रहेगा, इससे महिलाओं व बच्चों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

अधिकारी नई-नई जगह पर खोल रहे दुकान
इधर, इस मामले में संसदीय सचिव व स्थानीय विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर का कहना है कि पूर्व में जिस दुकान का टेंडर हुआ था, आबकारी विभाग को वहां दुकान खोलना था। जिला आबकारी अधिकारी नई-नई जगह खोल रहे हैं, जो गलत है। इसी का परिणाम है कि त्रिमूर्ति कॉलोनी में भी विरोध शुरू हो गया है। पूर्व में बेमचा से एनओसी मिल गई थी, उसी समय दुकान को शिफ्ट कर देना था, लेकिन उनके द्वारा नहीं गया है। वहीं इस मामले में जिला आबकारी अधिकारी दिनकर वासनिक ने कहा कि कॉलोनी वासियों से बातचीत चल रही है, जो भी निर्णय होगा आपको बताया जाएगा।

खबरें और भी हैं...