पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संकट में पब्लिक ट्रांसपोर्ट:बसों का किराया बढ़ाने ऑपरेटरों ने फिर उठाई मांग, बोले- पांच साल से नहीं बढ़ा

महासमुंद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चार माह से डीजल का खर्च भी नहीं निकाल पा रहे ऑपरेटर

यात्री किराया में बढ़ोतरी के आसार है, क्योंकि लगातार डीजल व पेट्रोल की कीमत बढ़ती जा रही है। बस मालिक भी शासन स्तर पर बढ़ते डीजल के दामों को देखते हुए यात्री किराए पर वृद्धि करने की मांग कर रहे हैं, लेकिन शासन की ओर से अब तक इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है। यदि बसों का किराया सरकार बढ़ाती है, तो इसका असर सीधे तौर पर आम आदमी की जेब पर पड़ेगा। बता दें कि डीजल व पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी है। पिछले एक साल में 15 रुपए की वृद्दि की है। बस एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष राकेश चंद्राकर का कहना है कि डीजल के दाम बढ़ने से बस मालिकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना की मार से अभी तक उभरे नहीं हैं। वहीं दूसरी ओर डीजल के बढ़ते कीमतों ने परेशान कर दिया है। कोरोना का भय अभी तक लोगों में बना हुआ है, इसलिए यात्री बसों में यात्रा करने से परहेज कर रहे हैं। पिछले चार महीनों से डीजल का खर्चा तक नहीं निकल पा रहा है। एक साल पहले 2500रुपए से 2800रुपए में महासमुंद से रायपुर आना-जाना हो जाता था। वर्तमान में 3500 रुपए लग रहा है। एक साल में डीजल की कीमत 15 रुपए इजाफा हुआ है।

संक्रमण के कारण बस व सवारी कम
महासमुंद बस स्टैंड से तकरीबन 200से 250बसें अलग-अलग रूट पर चलती है। कोरोना संक्रमण के कारण बसों की संख्या कम हो गई है। इसका कारण सवारी काे माना जा रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण बसों में सवारी की संख्या एकदम से कम हो कम हो गई है। इसके चलते बस संचालकों को किराय से मिलने वाली आमदनी कम हो गई है। संचालकों को जेब से अधिक खर्च करना पड़ रहा है लेकिन किराया नहीं बढ़ा है। इस बार एसोसिएशन की ओर से किराया बढ़ाने के लिए शासन स्तर से मांग की जा रही है।

ऑपरेटर कर रहे 30 से 40% किराया बढ़ाने की मांग
बस आॅपरेटर द्वारा डीजल के बढ़ते कीमत को देखते हुए कियारा बढ़ाने को लेकर तैयारियां कर रहे हैं। वे शासन स्तर से किराया बढ़ाने की मांग व चर्चा करने में लगे हैं। बताया जा रहा है कि एसोसिएशन की ओर से 30से 40 प्रतिशत यात्री किराया बढ़ाने की मांग सरकार से की जा रही है। ऑपरेटरों की मानें तो पिछले पांच सालों से किराया अभी तक नहीं बढ़ा है। इस दौरान लगातार डीजल के दाम बढ़े। भाजपा शासन काल में एक बार यात्री बसों के किराया बढ़ा था, जिसके बाद से डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे है।

किराया बढ़ा तो 10 से 35 रुपए अतिरिक्त देने होंगे
बस एसोसिएशन की मांग पर यदि सरकार मान जाती है तो इसका असर आम लोगों की जेब पर पड़ेगा। जिले में विभिन्न रूटों पर सफर करने वाले यात्रियों को 10 से 35 रुपए तक अतिरिक्त किराया देना पड़ेगा। अभी महासमुंद से रायपुर जाने का किराया 55रुपए है। यदि किराया 30 फीसदी के हिसाब से बढ़ाया जाता है तो यात्रियों को 72 रुपए भुगतान करना होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें