पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गड़बड़ी:कार्डधारियों के साथ हुई हेराफेरी, चना बांटे बगैर ही कर दी गई ऑनलाइन एंट्री

महासमुंद2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जांच में हुआ खुलासा, अधिक कीमत में शक्कर और मिट्टी तेल की सप्लाई की जा रही

उचित मूल्य की दुकान में गरीब कार्डधारियों के साथ हेराफेरी करने का मामला सामने आया है। इन कार्डधारियों को चना दिए बिना ही उनके राशन कार्ड में फर्जी तरीके से ऑनलाइन एंट्री कर दी गई, जबकि ग्रामीणों को चना मिला ही नहीं है। दुकान के कर्मचारी मिलीभगत कर सीधे वितरण की ऑनलाइन एंट्री कर दी है। इधर, चना का स्टॉक उचित मूल्य की दुकान में अभी भी पड़ा हआ है। मामले का खुलासा जांच में हुआ है।
यही नहीं दुकान से एक और मामले का खुलासा हुआ है। यहां ग्रामीणों को सरकार द्वारा तय कीमतों से अधिक रुपए में शक्कर व मिट्टी तेल की सप्लाई की जा रही है। मामला जिला मुख्यालय से लगे ग्राम बेमचा के सार्वजनिक वितरण प्रणाली के सरकारी उचित मूल्य के दुकान की है। यह खेल पिछले छह महीने से चल रहा था। उक्त मामले की जानकारी जब सरपंच सहित ग्रामीणों को हुई तो उनका गुस्सा फूटा और इसकी शिकायत कलेक्टर से की। बता दें कि खाद्य विभाग की लापरवाही के चलते हजारों ग्रामीण राशन ठगी का शिकार हो रहे हैं। जिला खाद्य विभाग को मिट्टी तेल, शक्कर की काला बाजारी की जानकारी ही नहीं है।
इस संबंध में एसडीएम सुनील चंद्रवंशी का कहना है कि ग्रामीणों ने इस मामले की शिकायत की थी। जिस पर जांच पूरी हो चुकी है। जांच में बिना वितरण करे ही ऑनलाइन एंट्री करना पाया गया है। स्टॉक दुकान में रखा हुआ है। जांच प्रतिवेदन के बाद दुकान के अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
11 क्विंटल 87 किलो चना की हेराफेरी : ग्राम बेमचा के सरकारी उचित मूल्य की दुकान से 1187 परिवार को एक किलो ग्राम के हिसाब से 11 क्विंटल 87 किलोग्राम का चना वितरण करना था, लेकिन इन परिवारों को चना का वितरण नहीं किया गया। कार्डधारियों को बाद में पता चला कि उनको देने के लिए चना आया है, तो वे कार्ड लेकर उचित मूल्य की दुकान पहुंचे। यहां अधिकारी व कर्मचारियों ने ग्रामीणों को बताया कि कार्ड में चना वितरण हो चुका है और इसकी एंट्री भी हो चुकी है। इसके बाद कार्डधारी हैरान हो गए क्योंकि उनके द्वारा चना लिया ही नहीं गया है। यह बात धीरे-धीरे गांव में फैल गई और अन्य कार्डधारी जब चना लेने पहुंचे तो उन्हें केवल एक ही जवाब मिला, ऑनलाइन एंट्री हो गई है और चना आपको मिल गया है। इसके बाद ग्रामीण भड़क उठे।

अधिक कीमत पर बेच रहे सामान
मुफ्त में चना वितरण के बाद अधिक कीमत पर भी राशन देने का खुलासा हुआ। शासन द्वारा निर्धारित कीमत पर राशन कार्डधारियों को शक्कर व मिट्टी तेल का वितरण किया जाना है। शासन ने 17 रुपए प्रति किलो शक्कर व 33.87 रुपए प्रति लीटर मिट्टी तेल की दर निर्धारित की है, लेकिन उचित मूल्य की दुकान के कर्मचारियों द्वारा शक्कर को 20 एवं मिट्टी तेल को 40 रूपये में बेच रहे हैं।

गरीबों के हक से किया जा रहा है खिलवाड़
ग्राम बेमचा के रोहित चंद्राकर ने बताया कि राशन वितरण में गरीबों के हक से खिलवाड़ किया जा रहा है। गरीबों को अधिक कीमत पर राशन का वितरण किया जा रहा है । वहीं मुफ्त में चना वितरण किया जाना था, लेकिन यहां के कार्डधारियों को चना नहीं मिला है, लेकिन उनके राशन कार्ड में चना की ऑनलाइन एंट्री कर दी गई है।
फरवरी में आया चना किसी को नहीं मिला
ग्रामीण योगेश्वर चंद्राकर ने बताया कि बेमचा की सार्वजनिक वितरण प्रणाली दुकान में हेराफेरी की जा रही है। फरवरी माह में सरकार ने गरीबों को चना वितरण करने के लिए दुकान में चना का आबंटन किया था, लेकिन एक भी गरीब परिवार के लोगों को चना का वितरण नहीं किया है। और राशन कार्ड में चना वितरण की एंट्री कर दी।

6 माह से अधिक कीमत पर बेच रहे राशन
ग्रामीण कमला बाई ने बताया कि पिछले 6 माह से राशन दुकान में निर्धारित रुपए से अधिक कीमत पर बेचा जा रहा है। इस बात का खुलासा अभी-अभी हुआ है। शक्कर व मिट्टी तेल पर अधिक रुपए गरीबों उचित मूल्य की दुकान के अधिकारी व कर्मचारी वसूल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें