लेटलतीफी / एम्स में प्रदेशभर से सैंपल आ रहे इसलिए जांच में देर16 मई को भेजे नमूने की रिपोर्ट 6 दिन बाद मिली

Samples are coming from all over the state in AIIMS, therefore, the report of the sample sent late on May 16 was received after 6 days of investigation.
X
Samples are coming from all over the state in AIIMS, therefore, the report of the sample sent late on May 16 was received after 6 days of investigation.

  • 680 लोगों के भेजे गए थे सैंपल, इसमें से 588 की रिपोर्ट आई, सभी निगेटिव, 92 का आना अभी बाकी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

महासमुंद. प्रदेश के सभी जिलों में अन्य राज्यों से मजदूरों के लौटने के साथ ही कोरोना की जांच तेज कर दी गई है। यही कारण है कि रोज सभी जिलों से बड़ी संख्या में आरटीपीसीआर (स्वॉब) सैंपल लेकर जांच के लिए रायपुर एम्स भेजा जा रहा है। यही कारण है कि एम्स में इन सैंपल्स के जांच की पेंडेंसी बढ़ गई है। इसके चलते जिले से भेजे गए सैंपल के रिपोर्ट आने में देर हो रही है। शुक्रवार को 16 मई को भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट मिली है, जिसमें सभी निगेटिव है। वहीं स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक  अब तक जिले से 680 लोगों के सैंपल भेजे गए हैं, जिसमें 588 की रिपोर्ट आई है। सभी निगेटिव हैं। वहीं 92 की रिपोर्ट आना बाकी है।
सिविल सर्जन डॉ. आरके परदल ने बताया कि शुक्रवार को जो रिपोर्ट हमें मिली है, वह 15 और 16 मई को भेजे गए सैंपल की है। इसके बाद भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट अब तक नहीं आई है। डॉ. परदल ने बताया कि जिलेभर से रोजाना औसतन 50 सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। वर्तमान में 276 सैंपल की रिपोर्ट पेंडिंग पड़ी है। जांच में देरी के कारण जिले में अब तक कोटा से लौटी छात्राओं और उनके परिजन के 18 मई को लिए गए सैंपल की रिपोर्ट नहीं आई है। वहीं 21 मई को मुंबई से लौटे मजदूरों के लिए गए सैंपल की रिपोर्ट नहीं आई है।
जांच में सैंपलिंग का काम ठीक मिला
स्वास्थ्य विभाग की दो टीमों ने शुक्रवार को बसना और सरायपाली ब्लॉक के क्वारेंटाइन सेंटर पहुंचकर सैंपलिंग के कामों का निरीक्षण किया। इस दौरान टीम ने पाया कि सैंपलिंग का काम तय पैरामीटर के अनुसार ही हो रहा है। शुक्रवार को डॉ. वाईके सिंग और संदीप ताम्रकार बसना विकासखंड के लंबर और डोंगरीपाली सहित आसपास के क्वारेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया। इसी तरह डॉ. अनिरूद्ध कसार और डॉ. छत्रपाल चंद्राकर की टीम सरायपाली मुख्यालय समेत भोथलडील और आसपास के क्वारेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया।
27 मजदूर लौटे हैं मुंबई से, एक को मलेरिया
स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार बसना ब्लॉक में 16 मई को मुंबई से कुल 27 मजदूर वापस लौटे थे। इनमें से 6 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए एम्स रायपुर भेज दिया गया है। इनमें से दो महिला, दो पुरुष के साथ एक बालक शामिल है। इसके अलावा एक अन्य मजदूर को भी पिछले कई दिनों से बुखार था। उसका भी सैंपल भेजा गया है। वहीं शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मलेरिया किट से उसकी जांच की तो पता चला कि उसे मलेरिया है। इसके बाद उसे 14 दिन की दवा दी गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना