पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आकस्मिक निरीक्षण:रैन बसेरा का सामान कोई रेत नहीं जो उड़कर बिरकाेनी पहुंच जाए: सभापति

महासमुंद6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रैन बसेरा से गायब हुए सामान के मामले में पालिका के सभापति और पार्षदों ने संसदीय सचिव विनोद सेवनलाल चंद्राकर को आड़े हाथ लिया है। पार्षदों ने कहा कि रैन बसेरा में रखा कूलर, पंखा आदि सामग्री महानदी की रेत नहीं है, जो उड़कर बिरकोनी पहुंच जाए। यहां का सामान पालिका के स्टोर रूम में सुरक्षित रखवा दिया गया है।

पार्षदों ने कहा कि संसदीय सचिव ने आकस्मिक निरीक्षण कर मीडिया को भ्रामक जानकारी देकर गरीबों का हितैषी बन रही है। यदि वे गरीबों के सच्चे हितैषी हैं तो पालिका के अंतर्गत गरीबों के लिए संचालित आवास, श्रद्घांजलि जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं जो फंड की कमी के कारण बंद पड़ी है, उसे शुरू करने के लिए राज्य सरकार से फंड दिलाने की पहल करनी चाहिए। दरअसल, दो दिन पहले संसदीय सचिव सहित पालिका उपाध्यक्ष और नेताप्रतिपक्ष बस स्टैंड स्थित रैन बसेरा के औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे थे। यहां सामाग्री नहीं होने पर अधिकारियों को बुलाकर पंचनामा तैयार कराया गया था। इसी मामले को लेकर अब नगर पालिका सभापति संदीप घोष, देवीचंद राठी, माधवी महेन्द्र सिक्का, मनीष शर्मा, रिंकू चंद्राकर, मुन्ना देवार, पार्षद द्वय पवन पटेल, महेन्द्र जैन, मीना वर्मा, सरला गोलू मदनकार, कमला बरिहा, हफीज कुर्रेशी, मंगेश टांकसाले आदि ने पलटवार किया है।

खबरें और भी हैं...