रायपुर पहुंचे 6 लाख 44 हजार डोज:2 लाख 97 हजार युवाओं को लगेगा मंगल टीका, 45+ एज ग्रुप के 3 लाख 47 हजार लोगों को भी वैक्सीन लगेगी; इस महीने 3.70 लाख डोज और मिलेंगी

रायपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू हुआ है। लेकिन कम टीकों की वजह से इसकी रफ्तार बेहद धीमी है। - Dainik Bhaskar
प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू हुआ है। लेकिन कम टीकों की वजह से इसकी रफ्तार बेहद धीमी है।

छत्तीसगढ़ में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन की किल्लत कुछ हद तक दूर होने के आसार बन रहे हैं। कंपनियों ने जो शेड्यूल भेजा है, उसके मुताबिक मई महीने में प्रदेश को टीके की 12 लाख से अधिक डोज मिलनी है। आज उसमें से कोवीशील्ड वैक्सीन के 2 लाख 97 हजार 110 डोज पहुंच गए। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने इसे बेहद छोटा बताया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, आज 18 से 45 आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए कोवीशील्ड वैक्सीन की 2,97,110 डोज की एक छोटी आपूर्ति प्राप्त हुई है। इस आयु वर्ग के लिए हमारे टीकाकरण की वर्तमान दर के हिसाब से यह टीके अधिकतम 2 दिनों तक चल पाएंगे। सिंहदेव ने कहा, छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार और स्वास्थ्य विभाग अपने लोगों को जल्द से जल्द टीका लगाने और सुरक्षित रखने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए टीकों की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता होगी। हम जितनी जल्दी सभी के लिए टीकाकरण का लक्ष्य हासिल कर लेंगे, हम धीरे-धीरे सामान्य स्थिति की ओर बढ़ सकेंगे।

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर ने बताया, "आज नियमित उड़ान से कोवीशील्ड वैक्सीन का 6 लाख 44 हजार 410 डाेज पहुंचा है। इनमें से 2 लाख 97 हजार 110 डोज 18 + के टीकाकरण के लिए होगा। शेष 3 लाख 47 हजार 300 डोज वैक्सीन 45 वर्ष से अधिक के लोगों के केंद्र प्रायोजित टीकाकरण में इस्तेमाल होगा।" हवाई अड्‌डे से राज्य वैक्सीन भंडार लाने के बाद इन टीकों को जिलों में भेजने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।

ऐसा है वैक्सीन पहुुंचने का शेड्यूल

अधिकारियों ने बताया, भारत बायोटेक ने जो शेड्यूल भेजा है उसके मुताबिक मई में उनको 3 लाख डोज वैक्सीन भेजनी है। अभी तक उनके कोवैक्सिन की केवल 1 लाख 3 हजार डोज ही मिल पाई है। सीरम इंस्टीट्यूट ने भी 9 लाख डोज भेजने की बात की है। इसमें से आज की खेप मिलाकर करीब 7 लाख डोज पहुंच गई है।

टीकाकरण केंद्रों की संख्या भी बढ़ेगी

बताया जा रहा है, आज वैक्सीन की खेप पहुंच जाने के बाद 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण केंद्रों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। अभी प्रदेश भर में करीब 650-55 केंद्रों पर यह टीका लगाया जा रहा है। इसे बढ़ाकर 700 से अधिक किया जाएगा। कल रात तक 18 से 44 आयु वर्ग के 3 लाख 99 हजार 262 लोगों को पहला टीका लगाया जा चुका था।

कल अधिकांश केंद्रों पर प्रभावित रहा था टीकाकरण

टीके की कमी की वजह से कल अधिकतर शहरी टीकाकरण केंद्रों पर टीका लगाने का काम प्रभावित रहा। रायपुर, भिलाई जैसे शहरों में गरीबी रेखा से ऊपर और फ्रंटलाइन वर्कर श्रेणी के लोगों का टीकाकरण बंद हाे गया था। फिर भी प्रदेश में कल 28 हजार 746 टीके लगाए गए।

रायपुर के कई टीकाकरण केंद्रों पर ऐसी नोटिस लगाई गई थी। इसमें फ्रंटलाइन वर्कर और APL वर्ग का टीका उपलब्ध नहीं होने की बात थी।
रायपुर के कई टीकाकरण केंद्रों पर ऐसी नोटिस लगाई गई थी। इसमें फ्रंटलाइन वर्कर और APL वर्ग का टीका उपलब्ध नहीं होने की बात थी।

चार वर्गों को अलग-अलग अनुपात में लग रहा है टीका

छत्तीसगढ़ में टीकाकरण चार अलग-अलग वर्गों में अनुपात के मुताबिक हो रहा है। किसी केंद्र पर मौजूद टीके का 16 प्रतिशत अन्त्योदय राशनकार्ड धारी को लगाना है। इस वर्ग में कल तक 76 हजार 941 लोगों को टीका लगा चुका था। गरीबी रेखा से नीचे रह रहे लोगों को 52 प्रतिशत टीका लगना था। इस वर्ग के 1 लाख 68 हजार 774 लोगों को टीका लग चुका है। टीके का 20 प्रतिशत हिस्सा फ्रंटलाइन वर्कर और गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को आवंटित है। इस वर्ग के 45 हजार 611 लोगों को कल तक टीका लग चुका था। वहीं गरीबी रेखा से ऊपर के व्यक्तियों को कुल टीके का 12 प्रतिशत हिस्सा मिलना है। अभी तक इस वर्ग में 1 लाख 7 हजार 936 लोगों को टीका लगाया जा चुका है।