एटीएम चोर:शहर में 42 घंटे में 3 मशीनें तोड़कर 2 लाख निकाले, चौथी से भागना पड़ा

रायपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीसीटीवी फुटेज में चोर। - Dainik Bhaskar
सीसीटीवी फुटेज में चोर।

राजधानी में 42 घंटे के भीतर चोरों ने शहर के थोड़े सूने इलाकों में बिना गार्ड वाले तीन एटीएम सेंटर में घुसकर मशीनें तोड़ीं और 2 लाख रुपए कैश चुरा लिए। चौथी जगह भी चोरों ने एटीएम तोड़ा, लेकिन तुरंत अलार्म बजने लगा तो चोर भाग निकला। कुछ देर बाद ही पुलिस पहुंच गई लेकिन चोर नहीं मिला।

पुलिस को सभी वारदातों में फुटेज मिले हैं, लेकिन इनमें से किसी की पहचान नहीं हो पाई है। अफसरों को आशंका है कि यह किसी बाहरी गिरोह का कारनामा है। चारों मामले की जांच के लिए साइबर सेल की स्पेशल टीम बनाई गई है।

जिन एटीएम को चोरों ने टारगेट किया, उनमें सुरक्षा गार्ड नहीं थे। एएसपी लखन पटेल ने बताया कि चारों वारदातों का तरीका लगभग एक जैसा और शहर के लिए नया है। चोरों ने एटीएम सेंटर में घुसने के बाद मशीन के उस हिस्से को तोड़ा जहां से पैसे निकलते हैं। उसे पूरी तरह क्लीयर करने चोरों ने कार्ड स्वाइप किया।

जैसे ही मशीन से पैसे निकलने की आवाज आई, चोरों ने उसे किसी औजार से तोड़ा। ऐसा करने से पैसे निकल गए, लेकिन ट्रांजेक्शन दर्ज ही नहीं हुआ। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के दौरान अप्रैल-मई में भी शहर के चार एटीएम को लूटने की कोशिश हो चुकी है।

पहली वारदात सरोना, फिर कबीरनगर, कोटा और आजाद चौक इलाके में हुए। हालांकि चोर उन वारदातों में पैसे नहीं निकाल पाए थे। हालांकि उन वारदातों में लोकल गिरोह पर शक था, क्योंकि चोर चारों घटनाओं में मोपेड से ही पहुंचा और भाग निकला।

पहली बार मुखौटा लगाकर वारदात, अलार्म से भागा

एटीएम लूट की वारदातों में पुलिस को पहली बार ऐसे चोर का फुटेज मिला है, जो मुखौटा लगाए हुए थे। यह फुटेज अंबुजा माॅल से आगे सड्डू में केनरा बैंक के एटीएम का है, जहां अलार्म बजने के बाद चोर को भागना पड़ा। इसके अलावा स्टेट बैंक स्टेट बैंक के तीन एटीएम को तोड़कर चोर 2 लाख रुपए निकालने में सफल हुए।

इन तीनों में चोर मास्क-कैप में थे। वारदात के तरीके के आधार पर पुलिस का अनुमान है कि आरोपियों ने चारों एटीएम की रेकी की, उसके बाद वारदात की। मुखौटे का उपयोग पुलिस का ध्यान डायवर्ट करने की कोशिश भी माना जा रहा है। अफसरों का कहना है कि जिस तरह के मुखौटे का उपयोग हुआ, वैसा रायपुर में उपलबध नहीं है। पुलिस यह पता लगा रही है कि इस तरह के मुखौटे कहां बनते हैं और कहीं ये बिजनेस साइट्स पर उपलब्ध तो नहीं है?

पहली वारदात गणपत चौक, चौथी और आखिरी सड्डू में

पिछले दो दिन में चोरों ने सबसे पहले शुक्रवार को सुबह साढ़े 7 बजे गणपत चौक के पास एसबीआई एटीएम पर धावा बोला। पेचकस और दूसरे औजारों से लेस चोर 10 मिनट में 60 हजार रुपए निकालकर भाग निकले। इससे आधा किमी दूरी पर सिर्फ आधा घंटे बाद हीरापुर चौक के एसबीआई एटीएम में उन्हीं चोरों ने धावा किया।

फुटेज में एक युवक गेट पर खड़ा नजर आया और दूसरा मशीन तोड़कर पैसे निकालने लगा। 15 मिनट में इस एटीएम से चोर 1.17 लाख रुपए निकालकर भाग निकले। इसके ठीक 3 घंटे बाद, तीसरी वारदात फाफाडीह रोड ओम कांप्लेक्स में एसबीआई एटीएम में सुबह 11 बजे हुए।

इन्हीं चोरों ने वहां भी इसी तरह से 10 मिनट में 20 हजार निकाले और भाग निकले। इसके बाद शुक्रवार और शनिवार को दिनभर कोई घटना नहीं हुई। शनिवार रात 2 बजे सड्डू के एटीएम में मुखौटे वाले युवक ने प्रवेश किया और मशीन तोड़ते ही अलार्म बजने लगा। वह भाग निकला, पुलिस उससे एक मिनट बाद पहुंची। आसपास घेरेबंदी भी हुई लेकिन आरोपी नहीं मिला।