छत्तीसगढ़ में कोरोना फिर खतरे के निशान पर:प्रदेश में 24 घंटे में 360 नए संक्रमित मिले, मुंगेली के एक मरीज की मौत; दुर्ग-भिलाई हॉटस्पॉट

रायपुर7 महीने पहले
जिन जिलों में कोरोना की संक्रमण दर 4% या उससे अधिक होगी वहां प्रशासन की ओर से सख्ती बढ़ने की संभावना बन रही है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण एक बार फिर से खतरे के निशान पर पहुंच गया है। यहां 24 घंटों में 11 हजार 634 नमूनों की जांच में 360 नए मरीजों का पता चला हैं। वहीं एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई है। प्रदेश में कोरोना की संक्रमण दर अब 3.09% हो गई है। इसके बाद यहां सामुदायिक संक्रमण का नया दौर शुरू हो सकता है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक सोमवार को 147 लोगों को इलाज के बाद डिस्चार्ज भी किया गया है। इनमें से अधिकतर मरीज होम आइसोलेशन में थे। इधर इलाज के दौरान मुंगेली के एक कोरोना मरीज की मौत हो गई। विभाग ने उसे कोमॉर्बिडिटी की श्रेणी में रखा है यानी मरीज को कोरोना के अलावा दूसरी समस्याएं भी थीं। पिछले चार-पांच महीनों के दौरान यह एक दिन में मिले मरीजों की सबसे बड़ी संख्या है।

इससे पहले 19 फरवरी को 504 मरीजों का पता लगा था। उसके बाद यह संख्या कभी 300 के करीब भी नहीं पहुंची। उस समय रोजाना 24 से 25 हजार नमूनों की जांच की जा रही थी। कोरोना की संक्रमण दर भी उसी मान से 2% से कम थी। इस समय रोजाना 10 से 11 हजार नमूनों की जांच ही हो पा रही है। अब लगातार दूसरे दिन संक्रमण दर 3% से अधिक पहुंचा है।

डॉक्टरों के मुताबिक संक्रमण दर 5% होने और संक्रमण के स्रोत का पता नहीं चलने की स्थिति में माना जाता है कि महामारी का सामुदायिक संक्रमण शुरू हो चुका है। इसका मतलब है कि महामारी पूरे समुदाय को अपनी चपेट में ले चुका है। खतरे के इस निशान से अभी दो कदम की दूरी ही बची है।

अभी दुर्ग-भिलाई है कोरोना का हॉटस्पॉट

पिछले दो-तीन दिनों से दुर्ग-भिलाई में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। दूसरी लहर में भी दुर्ग-भिलाई सबसे अधिक संक्रमित शहरों में शुमार रहा है। सोमवार को सबसे अधिक 67 नए मरीज दुर्ग जिले में ही मिले। रायपुर में 62 और राजनांदगांव में 33 नए मरीजों का पता चला है। बिलासपुर में 30, बेमेतरा में 25, जांजगीर-चांपा में 22, बालोद-कोरबा में 17-17, बलौदा बाजार में 13, मुंगेली में 11 और जशपुर में 9 नए मरीज मिले हैं।

सक्रिय मरीजों की संख्या 1678 तक पहुंच गई

रविवार की तुलना में सोमवार को दोगुने से अधिक मरीज मिलने की वजह से प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या एक हजार 678 हो गई है। दुर्ग जिले में सबसे अधिक 325 मरीजों का इलाज चल रहा है। रायपुर में 302 और बिलासपुर में 150 सक्रिय मरीज हैं। राजनांदगांव जिले में 146, बेमेतरा में 98, जांजगीर-चांपा में 91, बलौदा बाजार में 90, सरगुजा में 70, कोरबा में 55 और मुंगेली में 32 मरीजों का इलाज जारी है।

खबरें और भी हैं...