बाहर से आने वाले 57 की भी जांच:ओमिक्रॉन प्रभावित दक्षिण अफ्रीका से 3 लोग लौटे, रिपोर्ट अभी निगेटिव

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विदेश से रायपुर आए 78 लोगों में से 57 को खोजकर उनकी जांच बुधवार को कर ली गई है। इनमें तीन लोग ओमिक्रॉन प्रभावित दक्षिण अफ्रीका देश से आए हैं। इसके अलावा एट रिस्क में शामिल यूरोपीय देशों से 14 से अधिक यात्री लौटे हैं। एट रिस्क देशों से आने वाले ऐसे लोग जिन्होंने फिलहाल कोरोना आरटीपीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट दी है। उन्हें भी आइसोलेट रहने को कहा गया है। 7-7 दिन बाद फिर उनकी जांच की जाएगी। दोनों जांच में रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही उन्हें संक्रमण मुक्त माना जाएगा।

जिला स्वास्थ्य विभाग ने उनकी निगरानी के लिए एएनएम की टीम भी बना दी है। ये टीमें सात दिन बाद उनकी कोरोना जांच करवाएंगी। वहीं अगर इस बीच किसी की तबीयत बिगड़ती है या कोरोना जैसे लक्षण आते हैं तो 7 दिन पूरे होने के पहले भी उनकी जांच की जाएगी। अभी ज्यादातर मुसाफिरों ने निगेटिव रिपोर्ट दे दी है।

इसके बावजूद एहतियात के तौर पर सभी की निगरानी की जा रही है। अफसरों के अनुसार लौटने वालों में ज्यादातर लोग देवेंद्र नगर, न्यू राजेंद्र नगर, विधानसभा रोड, शंकर नगर, सिविल लाइंस, कटोरा तालाब के रहने वाले हैं। विदेश से लौटकर आने वाले कुछ लोगों ने कारोबारी वजह से यात्रा करने की जानकारी दी है। रायपुर में पिछले महीने 27,28 और 29 नवंबर की तारीख को लौटकर आए इन लोगों में ज्यादातर यात्री दुबई से लौटे हैं।

ओमिक्रॉन का खतरा जहां ,वहां के मुसाफिरों पर खास निगरानी
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक केंद्र की ओर से विदेश यात्रा करने वाले प्रदेश के 166 से अधिक मुसाफिरों की पहली सूची मंगलवार को मिली थी। उसके बाद से ही संबंधित जिलों में ट्रेसिंग की काम किया जा रहा है। जैसे जैसे केंद्र से लिस्ट मिलती जाएगी सभी जिलों में उन यात्रियों की ट्रेसिंग यानी खोज कर उनकी जांच की जाएगी।

पहली सूची के आधार पर रायपुर में 78 यात्रियों की लिस्ट मिली है। जिसमें 57 की जानकारी जुटा ली गई है। इसके अलावा रायपुर में स्वास्थ्य विभाग ने सभी इलाकों में जहां जहां मुसाफिर रह रहे हैं उन इलाकों में एएनएम की टीम बनाई है। जो कि सतत रूप से यात्रियों पर निगरानी करेगी। विदेश से लौटकर आए लोगों के लिए जो रणनीति बनाई गई है उसमें एट रिस्क देश यानी जिन देशों में ओमिक्रॉन का खतरा है वहां से आने वालों पर खास नजर रखी जा रही है।

घर पर ही रहेंगे क्वारेंटाइन 7 दिन बाद जांच, फिर 7 दिन निगरानी
केंद्र की ओर से जारी की गई गाइडलाइन के मुताबिक ओमिक्रॉन प्रभावित देशों दक्षिण अफ्रीका एट रिस्क देशों यूके, यूरोपीय देश, बांग्लादेश आदि से आने वाले मुसाफिरों को यहां निगेटिव रिपोर्ट के बावजूद पहले सात दिन तक क्वारेंटाइन रखा जा रहा है। सात दिन बाद उनकी दोबारा जांच होगी, इसमें निगेटिव पाए जाने पर अगले सात दिन तक विशेष निगरानी में ये रहेेंगे।

सात दिन पूरे होने के आधार टेस्टिंग टीम को मुसाफिरों के टेस्ट कब करना है, इसका शे्डूयल भी दे दिया गया है। किसी मुसाफिर की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उनका इलाज करने के साथ ही सैंपल को वैरिएंट जांच के लिए भी भेजा जाएगा। ताकि ये पता लगाया जा सके कि कहीं मुसाफिर ओमिक्रॉन वैरिएंट से कोविड की जद में तो नहीं आया है।

खबरें और भी हैं...