कोरोना से बिगड़े हालात को संभालने की तैयारी:60 प्राइवेट अस्पतालों को अनुमति, स्टेडियम को बनाया कोविड हॉस्पिटल; स्थिति ऐसी कि ट्रक बना दिए गए शव वाहन

रायपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर रायपुर के इंडोर स्टेडियम की है, यहां कोरोना मरीजों को लिए अस्थाई अस्पताल तैयार किया जा रहा है। - Dainik Bhaskar
तस्वीर रायपुर के इंडोर स्टेडियम की है, यहां कोरोना मरीजों को लिए अस्थाई अस्पताल तैयार किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ की राजधानी में पिछले दो दिनों से प्रशासनिक अमला कोविड-19 संक्रमण की वजह से बिगड़ रहे हालात को संभालने के जतन कर रहा है। लोगों की जिंदगियां बचाने अब इंडोर स्टेडियम में अस्थाई अस्पताल तैयार किया जा रहा है। स्टेडियम का वो हिस्सा जहां खेलों का आयोजन होता था, अब वहां 360 बेड लगे हैं। सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसका वर्चुअल निरीक्षण किया। 60 प्राइवेट अस्पतालों को कोविड मरीजों के इलाज की अनुमति दी गई है। मौत के बाद की व्यवस्था के लिए श्मशानों में बंदोबस्त किया जा रहा है, हालत ऐसी है कि ट्रकों को शव वाहन बनाना पड़ा है।

महामारी का हाल ये तस्वीर खुद कह रही है। बढ़ती मौतों की वजह से शवों के लिए अब ट्रक इस्तेमाल में लाए जाएंगे। तस्वीर रायपुर के स्मार्ट सिटी दफ्तर के बाहर की।
महामारी का हाल ये तस्वीर खुद कह रही है। बढ़ती मौतों की वजह से शवों के लिए अब ट्रक इस्तेमाल में लाए जाएंगे। तस्वीर रायपुर के स्मार्ट सिटी दफ्तर के बाहर की।

सरकार की तरफ से कहा गया कि स्टेडियम के अस्पताल को 4 दिन में तैयार किया गया है। स्टेडियम में ही ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया गया है। इस अस्थाई कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन के साथ 286 बिस्तर तैयार किए गए है, इसके अलावा 74 आइसोलेशन बेड भी यहां उपलब्ध है। इनमें 219 बेड पर ऑक्सीजन कंसनट्रेटर लगाए गए है, जिसमें ऑक्सीजन के साथ ही साथ नेबुलाइजेशन की सुविधा होगी। इस अस्थाई कोविड अस्पताल में फिल्में, सामाचार, टी.वी. सीरियल कैरम व अन्य इंडोर गेम, वार्ड में इंटर काॅम और फ्री वाई-फाई का भी इंतजाम है।

इन अस्पतालों को अनुमति, समस्या हो तो नोडल अफसर से कर सकेंगे शिकायत

इन प्राइवेट अस्पतालों को कोविड इलाज के लिए अनुमति रायपुर कलेक्टर ने दी है।
इन प्राइवेट अस्पतालों को कोविड इलाज के लिए अनुमति रायपुर कलेक्टर ने दी है।
इन प्राइवेट अस्पतालों को कोविड इलाज के लिए अनुमति रायपुर कलेक्टर ने दी है।
इन प्राइवेट अस्पतालों को कोविड इलाज के लिए अनुमति रायपुर कलेक्टर ने दी है।
इन प्राइवेट अस्पतालों को कोविड इलाज के लिए अनुमति रायपुर कलेक्टर ने दी है।
इन प्राइवेट अस्पतालों को कोविड इलाज के लिए अनुमति रायपुर कलेक्टर ने दी है।
इंडोर स्टेडियम रायपुर में बने कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन के लिए खास मशीनें हैं।
इंडोर स्टेडियम रायपुर में बने कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन के लिए खास मशीनें हैं।

बेड की जानकारी इस लिंक पर
स्वास्थ्य विभाग ने कोविड अस्पतालों में खाली बिस्तरों की जानकारी देने नया पोर्टल शुरू किया गया है। एक दिन पहने दैनिक भास्कर ने इस बंद पड़े पोर्टल की खबर दिखाई थी। इसके बाद नए सिरे से पोर्टल की लिंक को अपडेट किया गया है। इसमें प्रदेश के सभी जिलों में संचालित कोविड केयर सेंटरों, कोविड अस्पतालों और अनुमति प्राप्त निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए उपलब्ध बिस्तरों की संख्या दिखाई गई है। कोविड-19 मरीजों के लिए इन तीनों तरह के केन्द्रों में आक्सीजन सुविधा वाले बिस्तर, आईसीयू व एचडीयू बिस्तरों, वेंटिलेटर की जानकारी है। https://cg.nic.in/health/covid19/RTPBedAvailable.aspx

श्मशान के लिए जमीनें देखने में जुटे अफसर, अधिगृहित करने का आदेश जारी
कलेक्टर के आदेश के बाद अब रायपुर और बीरगांव निगम के इलाकों श्मशान अधिगृहित कर लिए गए हैं। अब सभी श्मशानों में कोविड संक्रमित मृतकों को प्रोटोकॉल के अनुसार अंतिम संस्कार होगा। कुछ श्मशानों में अंतिम संस्कार न होने की वजह से ऐसा आदेश जारी किया गया। रायपुर के सभी जनपद पंचायत क्षेत्रों में कोविड-19 के टेस्टिंग, होम आईसोलेशन में रह रहें मरीजो को दवाई वितरण, स्वास्थ्य विभाग द्वारा हॉस्पिटल एलॉटेड मरीजों के शिफिटिंग, वैक्सीनेशन, कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार मृतको के अंतिम संस्कार के काम के लिए जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी एच. के. जोशी के नोडल अधिकारी बनाया गया है।

तस्वीर रायपुर के अंबेडकर अस्पताल के शव गृह की है। यहां प्रदेश के कई हिस्सों से मरीज लाए जा रहे हैं, दर्जनों की मौत हो रही है।
तस्वीर रायपुर के अंबेडकर अस्पताल के शव गृह की है। यहां प्रदेश के कई हिस्सों से मरीज लाए जा रहे हैं, दर्जनों की मौत हो रही है।

अभनपुर में भी श्मशानों का बंदोबस्त
कलेक्टर डॉ एस. भारतीदासन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए एक मीटिंग ली। इस मीटिंग में कहा गया है कि ग्रामीणों की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाने पर अंतिम क्रियाकर्म के लिए 8-10 ग्रामों के बीच श्मशान भूमि का चिन्हांकन कोरोना श्मशान भूमि के रूप में पहले से कर लिया जाय। इस श्मशान भूमि में केवल कोरोना से मृत शरीर का ही अंतिम संस्कार किया जाएगा। मृत व्यक्ति को अंतिम क्रियाकर्म के लिए श्मशान भूमि तक लाने के पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था के साथ परिवहन किया जाएगा। अभनपुर तहसील, गोबरा नवापारा सिवनी, उगेतरा, भाटापारा बेलर, तेंदुआ, गातापार, भरेंगा नाहना चंडी श्मशान घाट को कोविड मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए अधिकृत किया गया है।

विद्युत शवदाह गृह बनाने के निर्देश
11 अप्रैल को नगरीय प्रशासन विभाग ने एक आधिकारिक जानकारी जारी की। इसमें कहा गया कि कोविड 19 महामारी के कारण हो रही अधिक मौतों और मुक्तिधाम में शव जलाने में हा रही कठिनाइयों से निपटने के लिए विद्युत शवदाहगृह स्थापित करने की कार्यवाही की जा रही है। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया ने मुक्तिधामों में मौत के बाद शव जलाने में लम्बा इंतजार और लोगों को आ रही कठिनाइयों को गंभीरता से लिया है। उन्होंने रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर,कोरबा,भिलाई और रिसाली नगर निगम में विद्युत शवदाहगृह स्थापित करने आवश्यक निर्देश दिए हैं। रिसाली और दुर्ग के लिए 47 लाख रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। विभाग ने आयुक्तों को जल्द से जल्द शवदाहगृह बनाने को कहा है।

रायपुर के नालंदा परिसर में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम हो रहा है।
रायपुर के नालंदा परिसर में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम हो रहा है।

कोई दिक्कत हो तो इन नंबर्स पर करें संपर्क
खाने से जुड़ी कोई दिक्कत हो तो खानपान सहायता प्रकोष्ठ से 0774055574 इस नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। होम आइसोलेशन वाले मरीजों को आपात स्थिति में हॉस्पिटल पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस मिल जाएगी। सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक मदद के लिए लोग नोडल अधिकारी ए.ओ. लॉरी 94063-46840, विक्रम सिंह फोन नं- 91791-13793, शिवेन्द सिंह फोन नं- 98930-61946,चंद्रिका प्रसाद वर्मा 98271-55516 औऱ अलंकार परिहार फोन नं- 98271-72212 को कॉल कर सकेंगे। दोपहर 12 बजे से शाम 6 बजे तक डी.के. सिंह 88397-78979, एच.आर. देवांगन, फोन नं-83193-82779, अनुभूति देवांगन फोन नं- 86691-22430 से बात की जा सकती है। शाम 6 बजे से रात के 12 बजे तक के लिए नोडल अधिकारी सी.एल शर्मा 98279-58846, लोकेश वर्मा 9977-451981 को कॉल किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...