सड़क खराब होने से क्वालिटी पर उठ रहे सवाल:70 करोड़ में बनाई 9 किमी सड़क 3 साल में उखड़ी, अब विभाग को ही करना पड़ेगा मेंटनेंस

रायपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भनपुरी से टाटीबंध रोड। - Dainik Bhaskar
भनपुरी से टाटीबंध रोड।

टाटीबंध से भनपुरी तक की 9 किमी लंबी सड़क 3 साल में ही उखड़ने लगी है। 70 करोड़ खर्च कर बनाई इस सड़क में तीसरी बारिश में ही कई जगह गड्‌ढे हो गए है। खतरनाक दरारें और क्रैक भी आ गया है। उरला मोड़ से लेकर कबीर नगर वाले हिस्से में तो रोड ज्यादा ही खराब हो गई है।

पीडब्ल्यूडी अफसरों के मुताबिक इस सड़क को बनाने वाली एजेंसी का मेंटेनेंस करने का समय भी खत्म हो गया है, इसलिए इसकी मरम्मत नहीं हो रही है। विभाग और निर्माण एजेंसी से हुए अनुबंध के मुताबिक सड़क की मरम्मत तीन साल तक करनी थी। कंपनी का यह समय पूरा हो गया है।

अब इस सड़क की मरम्मत के लिए विभाग को ही पैसे खर्च करने होंगे। लेकिन तीन साल बाद ही सड़क के जर्जर होने से कई सवाल खड़े हो गए हैं, क्योंकि डामर वाली रोड पर जगह-जगह दरार आने लगी है। सड़क के उबड़-खाबड़ व गड्‌ढे के चलते सड़क हादसों का खतरा बढ़ गया है।

सिक्सलेन होने के कारण भारी भरकम ट्रक तेज रफ्तार से चलते है। बाइक वाले भी बाइक वाले भी स्पीड में रहते है। इससे अचानक गड्‌ढा या दरार आने पर बैलेंस बिगड़ता है। बारिश का सीजन अभी शुरू हुआ है। ऐसी दशा में सड़क की स्थिति और बिगड़ेगी जिससे दुर्घटना का खतरा बढ़ेगा।

ओवरलोडिंग पर कार्रवाई नहीं
इस सड़क पर चौबीसों घंटे भारी वाहन चलते हैं। इनकी तेज रफ्तार और ओवरलोडिंग से सड़क समय से पहले ही उखड़ने लगी है। ट्रैफिक विभाग या प्रशासन वाहनों के ओवरलोडिंग को लेकर कोई कार्रवाई नहीं करते। बड़ी-बड़ी लॉरियां पूरे समय दौड़ती हैं, लेकिन इनके मानक वजन को लेकर कोई चेकिंग नहीं होती। भारी वाहनों के दबाव के चलते नौ-दस साल तक चलने वाली सड़क बहुत जल्द ही टूटने लगी है। हालांकि जब से यह सड़क बनी है, हादसे कम हो रहे हैं।

इसी के मद्देनजर रोड के दो हिस्सों में एफओबी बनाना तय हुआ है। दोनों ही चौक के आसपास बसाहट होने से लोगों का आना-जाना लगा रहता है। कई बार सड़क पार करते समय लोग तेज वाहनों की चपेट में आ जाते हैं। लोगों को सहूलियत देने और ट्रैफिक को स्मूथ बनाने में एफओबी मददगार हो रहा है। लेकिन सड़क के खराब होने से फिर से पुरानी स्थिति निर्मित होने लगी है।
अवैध पार्किंग से सड़क संकरी
टाटीबंध से लेकर भनपुरी तक की सड़क के अधिकतर हिस्से में अवैध पार्किंग है। सड़क दोनों ही किनारे ट्रकों की लंबी लाइन लगी रही है। इस कारण सिक्सलेन चौड़ाई वाली सड़क फोरलेन से भी कम दिखती है। इसके अलावा सड़क की सर्विस रोड के बड़े हिस्से में कब्जा है। देखरेख के अभाव में सड़क के दोनों तरफ गंदगी पसरी है। इन दिनों धूप निकलने से धुल ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। ऐसे में प्रशासन की लापरवाही के चलते रिंग रोड-2 की स्थिति फिर से खराब होने लगी है।

  • बारिश में खराब होने वाली सड़क व हिस्से का पैचवर्क किया जाएगा। गारंटी पीरियड समाप्त होने के बाद अब विभागीय स्तर पर टाटीबंध-भनपुरी सड़क की मरम्मत होगी। - ज्ञानेश्वर कश्यप, सीई, पीडब्ल्यूडी
खबरें और भी हैं...