पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गलतफहमी से बाजार अनलॉक:राजधानी में काफी दुकानें खुल गईं, दिनभर समझाकर बंद करवाता रहा सरकारी अमला

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौथे लॉकडाउन में कुछ ढील देने के बाद बाजार में उमड़ी भीड़। कई जगह लगा जाम। - Dainik Bhaskar
चौथे लॉकडाउन में कुछ ढील देने के बाद बाजार में उमड़ी भीड़। कई जगह लगा जाम।

राजधानी के चौथे लॉकडाउन में छूट के पहले दिन गुरुवार को बाजार में जबर्दस्त कंफ्यूजन हुआ। प्रशासन ने मोहल्लों की किराना दुकानों के और सब्जी वालों को ही कारोबार की छूट दी, लेकिन छोटे कारोबारी इस आदेश को समझ नहीं पाए। सुबह 8 बजे के बाद से ही चाय-पान ठेले, बेकरी, मिठाई, डेली नीड्स यहां तक कि सुपर मार्केट के भी शटर उठ गए। दुकानें खुलते ही लोगों की भीड़ भी लगने लगी। खबर मिलते ही आनन-फानन में पुलिस और निगम के अफसर की टीम पहुंची और दुकानों को बंद करवाया गया। इस दौरान कई जगह जबरदस्त विवाद की स्थिति पैदा हुई। शासन का आदेश बताकर कुछ व्यापारी बंद करवाने पहुंचे पुलिस व निगम अफसरों से उलझ गए। इस दौरान अलग-अलग इलाके की 20 दुकानें सील किया जा चुका था।

सब्जी वाले छूट न होने के बावजूद सड़क पर दुकानें सजाकर बैठ गए थे। उन्हें केवल ठेले पर सब्जी बेचने की अनुमति है, इसके बावजूद आधा दर्जन वार्डों में सड़क पर सब्जी लगाने वालों को खदेड़ा गया। इस दौरान भी व्यापारियों का पुलिस वालों के साथ विवाद भी हुआ। कारोबारियों का कहना था कि जरूरत के सामान की दुकानें खोलने की अनुमति है खासतौर पर खाने-पीने की। पुलिस के जवानों और अफसरों ने उन्हें कलेक्टर का आदेश दिखाया। इसके बाद भी जब मामला नहीं सुलझा तो कई जगहों पर दुकानें सील की गई। कुछ जगह तो कारोबारियों को एफआईआर की चेतावनी दी गई, तब वे शांत हुए। पुलिस और निगम की सख्ती के बाद ही दोपहर तक बिना अनुमति वाली दुकानें बंद हो पाई।

ऑटो पार्ट्स-हार्ड वेयर की दुकानें खुल गईं
प्रशासन ने कृषि उपकरण बेचने वालों को दुकानें खोलने की छूट दी है। गुरुनानक चौक से स्टेशन रोड गुरुद्वारा रोड पर कई ऑटो पार्ट्स और हार्डवेयर की भी दुकानें खुल गईं। गर्मी की वजह से एसी, कूल और पंखे बेचने वालों को होम डिलीवरी की छूट दी गई है, लेकिन एमजी रोड समेत कई जगहों पर इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकानें खुल गई। दूध की आड़ में डेली नीड्स, मिठाई दुकानें और किराना आइटम का सहारा लेकर बेकरियां भी खुल गईं। इन दुकानों को बंद करने के दौरान ही पुलिसवालों का कारोबारियों के साथ विवाद हुआ। मोहल्लों में सब्जी दुकान वालों को छूट दी गई थी, लेकिन शास्त्री बाजार, खमतराई सब्जी बाजार, भनपुरी बाजार, हीरापुर, कबीर नगर, रामनगर बाजार, दंतेश्वरी मंदिर चौक बाजार, शंकरनगर बाजार, श्रीगणेश मंदिर बूढ़ापारा चौक बाजार, आमापारा में सब्जी बाजार ही खुल गए।

सुपर मार्केट किया सील
संतोषी नगर, आमापारा, मोवा, पंडरी, टाटीबंध, हीरापुर समेत कई जगहों पर सुपर बाजार व डिपार्टमेंटल स्टोर भी खुल गए। शटर के अंदर से लोगों को सामान बाहर लाकर दिया जा रहा था। कई जगहों पर तो लोगों को भीतर भी इंट्री दी जा रही थी। इस दौरान रिलायंस स्मार्ट बाजार भी खुला मिला। निगम अफसरों ने उसे सील कर दिया।

बैंकों में गेट पर लगाया ताला
बैंकों के कामकाज को लेकर भी लोग परेशान हो गए। बैंकों में आम लोगों को प्रवेश की अनुमति नहीं है। इसके बावजूद कई बैंकों में आम लोग और खासतौर पर पेंशन लेने वाले पहुंच गए। इस वजह से स्टेट बैंक जयस्तंभ चौक, कचहरी शाखा समेत कई जगहों पर मुख्य शटर में ताला लगा दिया गया।

सिर्फ इन्हें खुलना है

  • गली, मोहल्लों और कॉलोनियों की किराना, सब्जी, फल की दुकानें।
  • छोटे मालवाहकों और ठेलों में सब्जी-किराना के साथ नॉनवेज।
  • ऑनलाइन एप जोमेटो-स्विगी व होटलों से ऑनलाइन भोजन मंगवाने की छूट।
  • बीज, उर्वरक, कीटनाशक, कृषि मशीनर से संबंधित दुकानें आटो पार्ट्स नहीं।
  • वाहन मरम्मत, पंक्चर, स्टेशनरी, लांड्री, आटा चक्की, पैकेजिंग मटेरियल की दुकानें खुलेंगी।
  • दो और चारपहिया वाहनों के शो रूम बंद रहेंगे। लेकिन उनके सर्विस सेंटर खुले रहेंगे।
  • उद्योगों, इमरजेंसी सेवाएं, पेट्रोल, एलपीजी, कोर पीडीएस के लिए बैंक खुलेंगे। लोगों की एंट्री बैन।
  • पोस्ट ऑफिस, कोरियर सेवाएं शुरू होंगी। डाक सेवा मिलेंगी, अमेजॉन-फ्लिपकार्ट को अनुमति नहीं।
  • पंखा, कूलर, एसी की दुकानें होम डिलीवरी के लिए खुलेंगी। इलेक्ट्रॉनिक सामान नहीं बिकेंगे।
  • न्यूज पेपर और दूध की डिलीवरी सुबह 6 से 8 बजे तक। दूध के लिए डेली नीड्स की दुकानें नहीं।
  • औद्योगिक और कंस्ट्रक्शन साइट मजदूरों को वहीं रखकर काम करवा सकते हैं।
  • पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी, मेडिकल स्टोर अपने तय समय तक खुलेंगें। एलपीजी बुकिंग ऑनलाइन।
  • राशन दुकान मास्क, फिजिकल डिस्टेंसिग, सेनिटाइजेशन के साथ शाम 5 बजे तक खुलेंगी।

(इनके अलावा किसी भी तरह के बाजार, दुकान, सेंटर नहीं खोल सकते हैं।)

शाम 5 बजे तक सबको अनुमति दें
छत्तीसगढ़ चैंबर अध्यक्ष अमर पारवानी ने किराना, सब्जी दुकानों, बैंकों को छूट देने और अमेजॉन-फ्लिपकार्ट जैसी ऑनलाइन कंपनियों को प्रतिबंधित करने के फैसले का स्वागत किया है। लेकिन उन्होंने फिर से एक बार सभी बाजारों को एक तय समय के लिए खोलने की मांग की है। उनका कहना है कि कुछ दुकानें खोलने और कुछ को बंद करने से ही कंफ्यूजन होता है। इसलिए शाम 5 बजे तक सभी तरह के कारोबार को अनुमति दें।

खबरें और भी हैं...