जीपी सिंह बोले-अभी नहीं आ सकता:एसीबी ने बयान के लिए बुलाया निलंबित एडीजी जीपी का जवाब काेराेना के लक्षण, क्वारेंटाइन हूं

रायपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जीपी सिंह - Dainik Bhaskar
जीपी सिंह
  • 10 करोड़ की अनुपातहीन संपत्ति पर होगा बयान

एंटी करप्शन ब्यूरो एसीबी ने पूर्व चीफ और निलंबित एडीजी जीपी सिंह को नोटिस भेजकर 10 करोड़ की अनुपातहीन संपत्ति पर जवाब देने बुलाया है। एसीबी की नोटिस के बाद निलंबित एडीजी ने पत्र लिखकर कहा है कि उनमें कोरोना के लक्षण हैं। फिलहाल वे क्वारेंटाइन हैं। अभी जवाब देने हाजिर नहीं हो सकेंगे।

एसीबी को भेजे गए पत्र में उन्होंने लिखा है कि बिलासपुर आने जाने के कारण उनकी तबीयत ठीक नहीं है। ये कोरोना का लक्षण हो सकता है। इस वजह से वे अभी क्वारेंटाइन रहेंगे। एसीबी ने शनिवार को नोटिस जारी किया था। रविवार को छुट्‌टी होने के कारण सोमवार को सुबह नोटिस उनके घर पहुंचाया गया। शाम को उनकी ओर से पत्र भेजकर तुरंत हाजिर होने में असमर्थता जतायी गई है।

एसीबी के अफसरों के अनुसार एडीजी और उनके सहयोगियों के ठिकानों में छापे के दौरान प्रापर्टी के संबंध में जो दस्तावेज जब्त किए गए हैं, उनके बारे में पूछताछ की जाएगी। अलग-अलग नामों के प्रापर्टी के दस्तावेज उनके घर में क्यों रखे गए थे? इस बारे में उनसे जवाब मांगा जाएगा। एसीबी में फिलहाल छापे के दौरान जितने दस्तावेज मिले हैं, उसकी स्क्रूटनी की जा रही है।

प्रापर्टी से संबंधित जितने भी दस्तावेज मिले हैं, उन्हें बाकी फाइलों और कागजों से अलग किया जा रहा है। अफसरों के अनुसार छापे के दौरान रायपुर के अलावा दिल्ली, नोएडा और पटियाला के साथ ओडिशा के दस्तावेज मिले हैं। सबकी स्क्रूटनी चल रही है। प्रापर्टी के कुछ दस्तावेज उनके बेहद करीबी रिश्तेदारों के नाम के हैं। कुछ दस्तावेज ऐसे हैं जो उनके रिश्तेदारों के नहीं बल्कि कारोबारियों के नाम पर है। उन कारोबारियों को भी पूछताछ के लिए बुलाने की तैयारी है। चंद्रखुरी ट्रेनिंग सेंटर के जिन अफसरों के नाम का आईटीआर उनके बंगले से मिला है, उन अफसरों से भी पूछताछ की जाएगी।

दिल्ली और ओडिशा में प्रापर्टी की खोजबीन शुरू: दिल्ली और ओडिशा में एडीजी जीपी सिंह के करीबी रिश्तेदारों नाम की प्रापर्टी की खेजबीन शुरू हो गई है। दिल्ली के अलावा पटियाला में उनकी पत्नी के नाम पर आधा दर्जन फ्लैट का पता चला है। एसीबी की टीम एक-एक फ्लैट उसका ब्योरा जुटा रही है। फ्लैट के अलावा दिल्ली और पटियाला के आस-पास कुछ और प्रापर्टी के दस्तावेज मिले हैं।

उनकी जानकारी भी निकाली जा रही है। छापे के दौरान उनके सरकारी बंगले से ओडिशा की खदान के कागजात मिले हैं। उसका वेरिफिकेशन किया जा रहा है। अफसरों के अनुसार दो-तीन दिन में सभी टीमें लौटेंगी। उसके बाद स्थिति स्पष्ट होगी सारी प्रापर्टी कब और किसके नाम पर खरीदी गई है।

एडीजी के करीबी मित्र को बनाया जा सकता है आरोपी : कोतवाली पुलिस एडीजी के करीबी मित्र स्टेट बैंक के मैनेजर मणिभूषण को भी आरोपी बना सकती है, क्योंकि एडीजी जीपी के बंगले के पीछे गटर में जिस तरह के फटे हुए दस्तावेज मिले हैं, उसी तरह के पन्ने मणिभूषण के घर से मिले हैं। इसलिए उन्हें आरोपी बनाया जा सकता है। पुलिस फिलहाल पूरे मामले में मणिभूषण की भूमिका की जांच कर रही है।

राजद्राेह मामले में एडीजी ने अग्रिम जमानत के लिए लगाई अर्जी, डीजे कोर्ट में होगी सुनवाई
निलंबित एडीजी जीपी सिंह राजद्रोह और सामाजिक-धार्मिक सौहार्द्र बिगाड़ने के मामले अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई है। उनके वकील ने सोमवार को डीजे कोर्ट में अग्रिम जमानत का आवेदन दिया है। एडीजी की अर्जी पर एक-दो दिन में सुनवाई होगी। कोर्ट ने कोतवाली से केस डायरी मंगवाई है। पुलिस भी एडीजी की जमानत का विरोध करने की तैयारी कर रही है।