पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महतारी एक्सप्रेस:पांच बार टेंडर बाद एजेंसी तय, नहीं दे रहे वर्कऑर्डर

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राज्य में दो साल बाद भी शुरू नहीं हो पा रही 102 एंबुलेंस सेवा

प्रदेश में काेराेना संक्रमण की गंभीर स्थिति के समय में भी महतारी एक्सप्रेस-102 को बंद रखा गया है। पांच बार टेंडर के बाद इसके संचालन के लिए एजेंसी भी तय की जा चुकी है, लेकिन अभी तक वर्कऑर्डर जारी नहीं किया गया है। दो साल पहले ही अनुबंधित एजेंसी का टेंडर खत्म हो गया है।

इसके बाद चार बार टेंडर जारी किया गया था, जिसमें एजेंसी तय नहीं की जा सकी थी। पांचवें टेंडर में एल-1 कैटेगरी की एजेंसी को फाइनल किया गया है पर काम शुरू करने का ऑर्डर नहीं दिया गया। इस वजह से 112 और 108 में जननी सुरक्षा सेवा का संचालन किया जा रहा है। 102 की ज्यादातर गाड़ियां जर्जर हैं। विभागीय जानकारी के मुताबिक 102 के संचालन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पांच बार टेंडर जारी किया, जिसमें चौथे टेंडर को अचानक पहला टेंडर मान लिया गया। पांचवें टेंडर में एल-1 फाइनल होने के बाद भी विभागीय वेबसाइट पर सारी चीजें अपडेट नहीं की गईं। इसकी वजह से अब 112 और 108 में ही जननी सुरक्षा के तहत गर्भवती महिलाओं को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है।

एल-1 तय किया, जल्द ही वर्कऑर्डर होगा
विधि विभाग ने कहा है कि एल 1 को टेंडर दिया जा सकता है। कोराेना संक्रमण काल में टेंडर को इस तरह से रोका जाना ठीक नहीं है। टेंडर में एल-1 एजेंसी फाइनल कर ली गई है। इसमें कुछ प्रशासनिक कार्रवाई के बाद वर्कऑर्डर जारी किए जाने के संकेत हैं।

एनटीपीसी ने जारी किया एनओसी
एनटीपीसी ने पत्र जारी कर आरकेटीसी को एनटीपीसी के वेस्टर्न रीजन को छोड़कर किसी भी अन्य निविदा में भाग लेने के लिए स्वतंत्र बताया गया है। इसके तहत एजेंसी केंद्र या फिर राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए किसी भी टेंडर में भाग ले सकती है। इसके लिए एनटीपीसी ने सभी को स्वतंत्र घोषित कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...