• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Alert With The Third Wave; Increasing Beds, Ventilators, Health Department Is Now Focusing On Strengthening The Referral System In Every Village

लापरवाही और भारी पड़ेगी:तीसरी लहर काे लेकर अलर्ट; बेड, वेंटिलेटर बढ़ा रहे, स्वास्थ्य विभाग अब हर गांव में रेफरल सिस्टम को मजबूत बनाने पर फोकस कर रहा है

रायपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य में दूसरी लहर अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुई और तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए तैयारियां तेज कर दी गईं हैं। दूसरी लहर में बच्चों और ग्रामीण अंचलों में केस बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। इस वजह से स्वास्थ्य विभाग अब हर गांव में रेफरल सिस्टम को मजबूत बनाने पर फोकस कर रहा है।

दवा के साथ पीपीईकिट, वेंटिलेटर, बेड और ऑक्सीजन सिस्टम को बढ़ाया जा रहा है। डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टॉफ की कमी न हो इसके लिए प्राइवेट डॉक्टरों और हेल्थ स्टॉफ को भी शामिल करने की प्लानिंग की जा रही है। ताकि किसी भी सेंटर या अस्पताल में डॉक्टरों की कमी न हो। मास्क, गल्ब्स, ऑक्सी मीटर, पीपीईकिट जैसे समानों के लिए लगातार टेंडर जारी किए जा रहे हैं, ताकि इनका बंदोबस्त भी पर्याप्त मात्रा में रहे। बच्चों और ग्रामीण इलाकों में तीसरी लहर का खतरा ज्यादा बताया जा रहा है, इसके लिए ग्रामीण स्तर पर कोरोना जांच के साथ शुरूआती दवाओं की उपलब्धता का सेटअप भी बनाया जा रहा है। ताकि गांव से शहर के अस्पताल ले जाने तक किसी मरीज को इलाज मिल जाए। इससे अस्पतालों में भीड़ की स्थिति नहीं बनेगी।

डॉक्टर-मेडिकल स्टॉफ की कमी दूर करने ये इंतजाम
स्वास्थ्य विभाग के कमांड एंड कंट्रोल सेंटर और मीडिया इंचार्ज डॉ. सुभाष मिश्रा के मुताबिक हाल ही में 911 इंटर्न डॉक्टर और 250 से अधिक मेडिकल अफसरों की ड्यूटी लगाई गई है। 92 स्टॉफ नर्स की सीधी भर्ती के लिए वेकेंसी निकाली गई है। वहीं हर जिले के अफसरों को कहा गया है कि वे अपनी जरूरत के हिसाब से तकरीबन 100 से अधिक हेल्थ स्टॉफ की नियुक्ति अपने स्तर पर कर लें।

तीसरी लहर की तैयारियों के लिए दो लहरों के अनुभवों के आधार पर जरूरत के हर सामान का असेसमेंट किया जा रहा है। बच्चों को लेकर जो आशंकाएं जताई जा रही है, उसके अनुरूप भी सेटअप बनाया जाएगा।
- डॉ. अलोक शुक्ला, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव

खबरें और भी हैं...