छत्तीसगढ़ विधानसभा / विपक्ष के हंगामे के बीच पहली बार गिलोटिन से सलाना बजट पारित, 1 लाख 2 हजार करोड़ का विधेयक पास

फाइल फोटो। फाइल फोटो।
X
फाइल फोटो।फाइल फोटो।

  • 28 से ज्यादा विधेयक भी बिना चर्चा के पारित कर दिया गया, वहीं दूसरी और चर्चा की मांग पर अड़े भाजपा विधायकों ने कार्यवाही का बहिष्कार कर दिया
  • भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि विधेयकों पर चर्चा होनी चाहिए, इस पर उन्होंने मत विभाजन का प्रस्ताव रखा, जो 57/14 से खारिज हो गया

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 04:06 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र गुरुवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। पहली बार राज्य विधानसभा का बजट गिलोटिन प्रक्रिया के तहत पास किया गया। वहीं 28 से ज्यादा विधेयक भी बिना चर्चा के पारित कर दिया गया। वहीं दूसरी आेर चर्चा की मांग पर अड़े भाजपा विधायकों ने कार्यवाही का बहिष्कार कर दिया।

1 लाख 2 हजार करोड़ का बजट पारित किया गया
कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए बजट सत्र काे पहले ही छोटा कर दिया गया था। वहीं गुरुवार की कार्यवाही शुरु होते ही यह तय माना जा रहा था कि कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी जाएगी। यही वजह है कि विधानसभा में पहली बार बिना विभागवार चर्चा के गिलोटिन की प्रक्रिया के जरिए 1 लाख 2 हजार करोड़ का बजट पारित किया गया। सदन में मुख्यमंत्री ने बजट डिमांड पढ़ा और सदन में इसकी मंजूरी दे दी। इसके बाद संबंधित विधेयकों को भी पटल में रखा गया और एक-एक कर संबंधित विधेयकों को मंजूरी मिलती गई।

गुरुवार को कार्यवाही शुरु होते ही स्पीकर डा. चरणदास महंत ने कार्यमंत्रणा समिति की बैठक का प्रस्ताव रखा। जिस पर विपक्षी विधायकों ने असहमति जताते हुए बजट पर चर्चा कराए जाने की मांग रखी। भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि विधेयकों पर चर्चा होनी चाहिए। इस पर उन्होंने मत विभाजन का प्रस्ताव रखा। जिसमें भाजपा विधायक का प्रस्ताव 57 के मुकाबले 14 मतों से खारिज हो गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना