• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Anger In Chhattisgarh Over Killing Of Farmers In UP; Chief Minister Bhupesh Baghel Will Go To Lakhimpur Kheri Today, After Discussion With Priyanka Gandhi, The Decision To Go Along Was Taken

UP सरकार ने CM भूपेश बघेल को रोका:लखनऊ एयरपोर्ट पर फ्लाइट उतरने की अनुमति नहीं, अब दिल्ली के रास्ते घुसने की कोशिश करेंगे मुख्यमंत्री

रायपुर7 महीने पहले
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सुबह 11.30 बजे की उड़ान से दिल्ली जाने वाले हैं।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुरी खीरी जिले में प्रदर्शनकारी किसानों पर जीप चढ़ाकर हत्या की घटना से छत्तीसगढ़ में भी गुस्सा भड़क गया है। सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने इस घटना की निंदा की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार सुबह लखीमपुर खीरी के तिकुनिया के लिए रवाना होने वाले थे, इससे पहले ही उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें रोकने का आदेश जारी कर दिया। अब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दिल्ली के रास्ते उत्तर प्रदेश में घुसने की कोशिश करेंगे। इसके लिए अब वे दिल्ली रवाना हो रहे हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लखनऊ हवाई अड्‌डे पर उतरने की अनुमति नहीं मिलने के बाद रणनीति बदली गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 11.30 बजे की नियमित उड़ान से दिल्ली रवाना हो रहे हैं। वहां से वे छत्तीसगढ़ सदन जाएंगे। वहां से उत्तर प्रदेश जाने की योजना को अमली जामा पहनाने की कोशिश होगी। इससे पहले मुख्यमंत्री सचिवालय ने उनके 11 बजे विशेष विमान से लखनऊ हवाई अड्‌डे और वहां से लेबुआ होटल जाने का कार्यक्रम जारी किया था। थोड़ी देर बाद ही उसे टाल दिया गया। मुख्यमंत्री के लिए विशेष विमान सुबह ही रायपुर हवाई अड्‌डे पर पहुंच गया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने रणनीतिकारों और कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं के साथ आगे की रणनीति पर चर्चा करने के बाद दिल्ली जाने का फैसला किया। इससे पहले सुबह जैसे ही उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से एयरपोर्ट अथारिटी को जारी पत्र सामने आया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश सरकार मुझे राज्य में न आने देने का फरमान जारी कर रही है। क्या उत्तर प्रदेश में नागरिक अधिकार स्थगित कर दिए गए हैं। अगर धारा-144 लखीमपुर खीरी में लगी है तो लखनऊ में उतरने से क्यों रोक रही है तानाशाह सरकार? मुख्यमंत्री ने बताया, वे अभी दिल्ली जा रहे हैं। वहां वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठकर आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

मुख्यमंत्री बोले, उत्तर प्रदेश जाने के लिए क्या अलग से वीजा लगेगा?

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विपक्ष को उत्तर प्रदेश जाने से रोकने पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, धारा 144 लखीमपुर में लगी है तो हमें लखनऊ में भी उतरने क्यों नहीं दिया जा रहा है। क्या, उत्तर प्रदेश में नागरिक अधिकार खत्म कर दिए गए हैं। क्या उत्तर प्रदेश जाने के लिए अब अलग से वीजा लेना पड़ेगा। उन्होंने कहा, इस घटना के बाद क्या लोग संवेदना व्यक्त करने नहीं जा सकते। घटना की जानकारी लेने नहीं जा सकते। उन्होंने पूछा, आप उन्हें रोक रहे हैं आपकी मानसिकता क्या है।

कहा - भाजपा का चरित्र अब सामने आ रहा है

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, भाजपा का चरित्र अब लोगों के सामने आ रहा है। जिस कानून व्यवस्था की बात को लेकर भाजपा यूपी की सत्ता में आई थी, उसकी सरेआम धज्जियां उड़ रही हैं। योगी आदित्यनाथ के कंट्रोल में कुछ नहीं रहा। उनके लोग ही किस प्रकार से कर रहे हैं यह पूरा देश देख रहा है। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर ख्रट्‌टर के रविवार को सामने आए बयान का हवाला देते हुए कहा भाजपा के चेहरे से नकाब उतर गया है। उनका असली चेहरा यह है कि लाठियां भांजों, गोलियां दागो, गाड़ियों से रौंद दो, आग लगा दो, खत्म कर दो। सही मायने में भाजपा का चरित्र देश के सामने अब आया है।

किसानों की मौत के समाचार आने के साथ शुरू हुई थी हलचल

रविवार शाम लखीमपुर खीरी में हिंसा और प्रतिहिंसा की तस्वीरें कुछ साफ होने के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया पर विरोध शुरू किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उस समय अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी से भयावह खबर आ रही है। किसानों की आवाज कुचलने की नाकाम कोशिशों के बाद अब किसानों को कार से कुचल दिया गया है। अब तक कुछ किसानों की मृत्यु एवं कई किसानों के घायल होने की खबर है। सत्ता के मदांध, किसानों की आवाज नहीं दबा पाएंगे।

प्रियंका गांधी रात में ही लखनऊ पहुंच गईं

रविवार की देर शाम तक तय हो गया कि यूपी से जुड़े कांग्रेस के सभी प्रमुख नेता लखीमपुर खीरी पहुंचेंगे। प्रियंका गांधी रात में लखनऊ पहुंच गईं। बताया जा रहा है, प्रियंका गांधी और कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से चर्चा की। उसके बाद मुख्यमंत्री ने प्रियंका गांधी के साथ लखीमपुर जाकर किसानों से मिलने की योजना बनाई। रात 10 बजे उन्होंने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, उत्तर प्रदेश में किसानों के साथ जो वहशी व्यवहार हुआ वह अक्षम्य है। किसान हूं। किसान का दर्द समझता हूं। इन कठिन परिस्थितियों में उनके साथ खड़े होने के लिए कल सुबह लखीमपुर जाउंगा। करीब एक घंटे बाद मुख्यमंत्री सचिवालय ने उनकी यात्रा का विवरण जारी किया।

मुख्यमंत्री सुबह 9 बजे जाने वाले थे लखनऊ

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सुबह 9 बजे की उड़ान से लखनऊ जाने वाले थे। इसके बाद वहां से उनको लखीमपुर खीरी के तिकुनिया के लिए रवाना होना था। गांव में वे प्रियंका गांधी के साथ मिलकर घायल किसानों से मुलाकात और आंदोलनकारी किसानों, मृतकों के परिजनों से चर्चा की योजना थी। इस बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट अथॉरिटी को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की फ्लाइट को उतरने की अनुमति नहीं देने को कहा है।

शनिवार को ही उन्हें उत्तर प्रदेश चुनाव की जिम्मेदारी मिली है

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अभी दो दिन पहले ही उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बड़ी जिम्मेदारी मिली है। उन्हें विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सीनियर ऑब्जर्वर बनाया गया है। भूपेश बघेल की टीम उत्तर प्रदेश में कई महीने पहले से काम कर ही रही है। बताया जा रहा है, उत्तर प्रदेश से जुड़े कांग्रेस के सभी बड़े नेता आज लखीमपुर खीरी में मौजूद रहेंगे।

सिंहदेव ने बताया "कोल्ड ब्लडेड मर्डर'

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने लखीमपुर खीरी की घटना को cold bloded murder (नृशंस हत्या) हत्या बताया है। सिंहदेव ने कहा, भाजपा के इशारे पर अमानवीयता चरम पर है। उन लोगों ने हमेशा अनुचित शक्ति का प्रयोग कर प्रदर्शन कर रहे किसानों को डराने की कोशिश की है। लेकिन UP के लखीमपुर में कार के नीचे किसानों को कुचलना नृशंस हत्या है। उन्होंने कहा, इस घटना के दोषियों और भड़काने वाले दोनों को कड़ा से कड़ा दंड मिलना मिलना।

अमरजीत बोले, ऐसा तो ब्रिटिश हुकूमत भी नहीं करती थी

छत्तीसगढ़ के खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने कहा, उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में आंदोलनरत किसानों को कुचलने की खबर बेहद हृदय विदारक है। विरोध के स्वर को दबाने के लिए प्राण लेना क्रूरता की पराकाष्ठा है। भाजपा नेता के पुत्र का किसानों को गाड़ी से कुचलना उनकी हताशा ज़ाहिर करता है। आंदोलनकारियों की आवाज दबाने के लिए ऐसी कायराना हरकत ब्रिटिश हुकूमत भी किया करती थी।

भूपेश बघेल को बड़ी जिम्मेदारी:सोनिया गांधी ने उत्तर प्रदेश चुनाव का सीनियर ऑब्जर्वर बनाया, चुनाव अभियान में होगी अहम भूमिका

खबरें और भी हैं...