जमीन मुआवजे के मामले में फिर हुई कुर्की:रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय में डर का माहौल, कुलसचिव की कुर्सी-टेबल, सोफा, टीवी सब कुर्क

रायपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ये प्रदेश के सबसे पुराने विवि के कुलसचिव का चैंबर 
है जिसकी टेबल-कुर्सियां भी नीलामी के कगार पर हैं - Dainik Bhaskar
ये प्रदेश के सबसे पुराने विवि के कुलसचिव का चैंबर है जिसकी टेबल-कुर्सियां भी नीलामी के कगार पर हैं

जमीन मुआवजे के मामले रविवि की दिक्कतें बढ़ती जा रही है। कुलपति व कुलसचिव की सरकारी गाड़ी पहले ही जब्त हो चुकी है। अब कुलसचिव की कुर्सी, टेबल, सोफा और टीवी भी कुर्क हो गई। कुर्क किए सामान को रविवि के संपदा अधिकारी के सुपुर्द किया गया है। इसमें कहा गया है कि जब भी कोर्ट का निर्देश होगा कुर्क किए गए इन सामानाें को प्रस्तुत करना होगा।

बताया जा रहा है कि अगली बार यदि कुर्की होती है तो यूनिवर्सिटी की अन्य चल संपत्तियाें भी जब्त हो सकती है। पिछले दिनों जमीन के मुआवजे के मामले में विवि में कुर्की की कार्रवाई की गई। तब संभवत: पहला मामला था जब यहां के कुलपति व कुलसचिव समेत एक अन्य सरकारी गाड़ी जब्त की गई।

अतिरिक्त मुआवजे को लेकर मामला
रविवि और भू-स्वामियों के बीच करीब 5.16 एकड़ जमीन के मुआवजे को लेकर विवाद है। रविवि के पास तकरीबन 3 सौ एकड़ जमीन है। वर्ष 2005-06 में शासन ने भू-स्वामियों से करीब 74 एकड़ जमीन अधिग्रहित कर रविवि को दी। इसके लिए भू-स्वामियों को मुआवजे की राशि दी गई। लेकिन अतिरिक्त मुआवजे को लेकर 31 किसान कोर्ट गए।

जिला न्यायालय ने 2017 में किसानों के पक्ष में निर्णय दिया। इसके तहत करीब 6.63 करोड़ रुपए 15 प्रतिशत ब्याज की दर से मुआवजा देने को कहा। अब यह राशि ज्यादा हो गई है। विवि ने इस राशि की मांग शासन से की। लेकिन शासन ने पैसे देने से मना कर दिया। मुआवजे की राशि नहीं मिलने पर कुर्की की कार्रवाई की जा रही है।

11 कुर्सी, 1 सोफा, अलमारी
कुलसचिव दफ्तर में रखी 11 नग कुर्सी, 1 सोफा, एक टी-टेबल, एक नग अलमीरा, एक टीवी भी शामिल है। जानकारी के मुताबिक जमीन के मुआवजे को लेकर पिछले दिनों 7 मामले में कुर्की की कार्रवाई की गई।

बड़े अधिकारियों को बताया
रविवि के कुलसचिव डॉ. गिरीशकांत पांडेय ने बताया कि गुरुवार को भी विवि में कुर्की की र्कारवाई की गई। कुर्की में जितने सामान थे, सबकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है।

खबरें और भी हैं...