पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CM की हाई लेवल मीटिंग:भूपेश बघेल ने बस्तर, राजनांदगांव और कबीरधाम जिले के अफसरों से बात की, टीकाकरण और क्वारैंटाइन सेंटर बढ़ाने पर जोर दिया

रायपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फोटो रायपुर के सीएम हाउस में चल रही बैठक के दौरान ली गई। अधिकारियों को अलर्ट मोड पर काम करने कहा गया है। - Dainik Bhaskar
फोटो रायपुर के सीएम हाउस में चल रही बैठक के दौरान ली गई। अधिकारियों को अलर्ट मोड पर काम करने कहा गया है।

छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच शनिवार को पूरे दिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अफसरों ने व्यवस्था का हाल जानते रहे। शनिवार की सुबह रायपुर स्थित अपने सरकारी आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बस्तर संभाग के अफसरों से जुड़े फिर बैठक में उन्होंने राजनांदगांव, कबीरधाम जिले अधिकारियों से भी बात की। रायपुर मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव अमिताभ जैन भी बैठक में शामिल थे।

फिलहाल सामने आ रही जानकारी के मुताबिक उन्होंने अफसरों को कोविड टीकाकरण की प्रगति, मरीजों के इलाज की व्यवस्था , क्वारैंटाइन सेंटरों की स्थापना, आइसोलेशन वाले मरीजों की मॉनिटरिंग, कोविड जांच को बढ़ाने को कहा है। बैठक में बस्तर संभाग के जिलों के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी), थाना प्रभारी (टीआई), मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी स्तर के अफसर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम जुड़े।

जिलों के अफसर इस बैठक में वर्चुअली शामिल हुए।
जिलों के अफसर इस बैठक में वर्चुअली शामिल हुए।

इन जिलों की चिंता इस वजह से अधिक
बस्तर के कुछ जिले आंध्रप्रदेश राज्य की सीमा पर है। कोरोना का नया खतरनाक स्ट्रेन आंध्रप्रदेश में मिला है। बस्तर की वो सीमाएं सील कर दी गई हैं, जहां से आंध्रप्रदेश के लोगों को आना-जाना था। राजनांदगांव और कवर्धा के कुछ हिस्से महाराष्ट्र और एमपी से जुड़े हैं। ये दोनों राज्य भी कोरोना संक्रमण की समस्या चरत स्तर पर झेल रहे हैं। इसलिए इन जिलों को लेकर सरकार का खास ध्यान है कि कहीं चूक न होने पाए।

खबरें और भी हैं...