नगरीय निकाय चुनाव:भाजपा ने जारी किया 25 बिंदुओं का आरोप पत्र पूछा- 3 साल में वादे पूरे क्यों नहीं

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

13 नगरीय निकायों में चुनाव के लिए कांग्रेस के घोषणा पत्र पर भाजपा ने 25 बिंदुओं में आरोप पत्र जारी किया है। नगरीय निकाय चुनाव के प्रभारी पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल, राजेश मूणत, प्रदेश मंत्री विजय शर्मा और ओपी चौधरी ने मंगलवार को यह आरोप पत्र जारी कर सवाल किया कि 2018 में विधानसभा चुनाव और 2019 में 151 नगरीय निकायों में चुनाव के दौरान जो वादे किए थे, उन्हें क्यों नहीं पूरा किया?

अग्रवाल ने कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने पहला झूठ बोला था। इसके बाद जब नगरीय निकायों में चुनाव हुए, तब उससे बड़ा झूठ बोला। अब जब 13 निकायों के चुनाव हो रहे हैं, तब महाझूठ बोल रहे हैं। ऑनलाइन नक्शे की शुरुआत भाजपा ने की थी। पट्टा देने की योजना भाजपा शासन में ही बनी। सभी घरों में साफ पानी देने के लिए भागीरथी योजना शुरू की थी। हाउसिंग बोर्ड, आरडीए की संपत्ति फ्री होल्ड करने की शुरुआत की थी। छत्तीसगढ़ को लगातार तीन बार स्वच्छता के लिए जो पुरस्कार मिला है, उसकी नींव भी भाजपा सरकार में रखी गई थी। कांग्रेस सरकार जो पहले से शुरू हो चुकी योजनाएं हैं, उन्हें ही अपना बताकर घोषणा पत्र जारी कर रही है।

अब तक शहर के विकास के लिए कितनी राशि दी?
पूर्व मंत्री ने कहा कि जब भाजपा सरकार बनी, तब शहरी क्षेत्रों के लिए 300 करोड़ का बजट था। इसे चार हजार करोड़ किया। उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया कि तीन सालों में शहर के विकास के लिए कितनी राशि दी है। इसी तरह तुष्टिकरण, अपराधगढ़, नशा माफिया, घर-घर शराब, संपत्ति कर की मार, भूमिहीनों के साथ धोखा, बेघर गरीब जैसे 25 अलग-अलग विषयों पर राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

मरकाम का पलटवार- यह 15 साल के कुशासन की याद
पीसीसी चीफ मोहन मरकाम ने भाजपा के आरोप पत्र को उनके 15 साल के कुशासन की याद करार दिया है। मरकाम ने कहा कि भाजपा अपने आरोप पत्र में भूपेश सरकार पर एक भी प्रमाणिक आरोप नहीं लगा पाई। जो भी आरोप लगाए गए हैं वह भी सतही और तथ्यहीन है। भाजपा ने आरोप पत्र जारी कर निकाय चुनाव में अपनी हार स्वीकार कर लिया है। घोषणा पत्र वह राजनैतिक दल जारी करता है जिसे यह विश्वास हो कि वह चुनाव में सफल होकर जनता के लिये कुछ कर सकता है। कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने कहा कि गुटबाजी के दलदल में फंसी भाजपा ने आरोप पत्र में किसी भी नेता की तस्वीर तक नहीं लगाई। डॉ रमन सिंह, धरमलाल कौशिक विष्णुदेव साय में किसी की भी तस्वीर का उपयोग क्यों नहीं किया राज्य की जनता यह जानना चाहती है।

खबरें और भी हैं...