राज्यपाल से सरकार की शिकायत:भाजपा की मांग- आने वाले 6 महीने में वैक्सीनेशन और कोविड नियंत्रण कैसे होगा लिखकर दे सरकार, रमन सिंह बोले- फेस टू फेस मिलने से डर रहे 'मुखिया'

रायपुर6 महीने पहले

भारतीय जनता पार्टी के नेता प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय के साथ राज्यपाल अनुसुइया उइके से मिलने पहुंचे। दरअसल, विपक्ष के नेताओं ने आमने-सामने की बैठक करने का वक्त सरकार से मांगा था। सरकार की तरफ से 12 मई को वर्चुअल मीटिंग का वक्त दिया गया। इससे नाराज विपक्ष सोमवार को राजभवन पहुंचा और प्रदेश सरकार की कमियां गिनवाई।

फोटो रायपुर के राजभवन की है। भाजपा नेताओं ने राज्यपाल से अपनी बातें साझा कीं।
फोटो रायपुर के राजभवन की है। भाजपा नेताओं ने राज्यपाल से अपनी बातें साझा कीं।

राज्यपाल से भाजपा नेताओं ने ये मांग की है कि आगामी 6 महीने में प्रदेश की 1 करोड़ 30 लाख जनता का टीकाकरण किया जाना, इसकी तैयारी है ये काम कैसे होगा इसकी पूरी कार्ययोजना बनाकर सरकार लिखित में जानकारी दे। इस मुलाकात के दौरान सांसद सुनील सोनी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देव साय, पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर, शिवरतन शर्मा मौजूद रहे। इस मुलाकात के बाद अब राज्यपाल ने भाजपा को इस मामले में सरकार से चर्चा के बाद उचित हल निकालने का आश्वासन दिया है।

फेस टू फेस से डर ?
मुलाकात के बाद बाहर आए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि मुझे हैरानी है कोविड के मुद्दे पर सरकार से मिलने का वक्त मांगने पर नहीं दिया गया। फेस टू फेस विपक्ष से बात करने में प्रदेश के मुखिया डरते हैं। हमने उन्हें समय देने के लिए पत्र भेजा तो 4 दिन बाद 12 मई को वर्चुअल मीटिंग का वक्त दिया ये तो विपक्ष का अपमान है। राज्यपाल से मिलकर हमने यही बताया कि इस सरकार का मुखिया विपक्ष से कैसा व्यवहार करता है।

वर्चुअल बैठक पर नाराज क्यों भाजपा
पूर्व मंत्री बृजमोहन ने वर्चुअल बैठक पर आपत्ती क्यों ? इस सवाल के जवाब में कहा कि सरकार को आमने- सामने की मीटिंग में क्या दिक्कत है, वर्चुअल बैठक में कभी लिंक नहीं मिल पाती, कभी पूरे विस्तार से बात नहीं हो पाती। हम भी वर्चुअल बैठक करते हैं मगर जब लोग ज्यादा हों तो करते है। 5 से 10 लोगों की बैठक सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हो सकता है। हम सरकार को सुझाव देना चाहते हैं इस महामारी के समय में विपक्ष की सही भूमिका निभा रहे हैं मगर सरकार को इससे मतलब नहीं।

खबरें और भी हैं...