• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • BJP Leaders Met The Election Commissioner, Sought An Inquiry Into The Voter List, Said Should Not Be Allowed To Vote Wearing A Burqa

भाजपा को बुरके' पर आपत्ति:चुनाव आयोग से कहा- जब वोटर कार्ड के लिए बुरका हटा सकती हैं तो मतदान के लिए क्यों नहीं

रायपुरएक महीने पहले

छत्तीसगढ़ में भाजपा को मुस्लिम समाज की महिलाओं के बुरका पहनने पर आपत्ति है। राज्य में नगरीय निकाय चुनाव से पहले भाजपा नेताओं ने निर्वाचन आयुक्त से मिलकर बुरके पर पर रोक लगाने की मांग की है। उनका कहना है कि किसी को भी बुरका पहनकर वोटिंग करने की इजाजत न दी जाए।

भाजपा नेताओं का कहना था कि महिलाएं अगर मतदाता पहचान पत्र बनवाने के लिए बुरका हटा सकती हैं, तो मतदान के समय भी उसे हटाया जाना चाहिए। भाजपा नेताओं ने बिरगांव के अब्दुल रऊफ वार्ड को अति संवेदनशील बताते हुए भाजपा नेताओं ने अपने प्रत्याशी और कार्यकर्ताओं को पुलिस संरक्षण देने की मांग रखी। उनका कहना था, पुलिस सुरक्षा होने से ही किसी प्रकार की अप्रिय घटना से बचा जा सकता है।

चार घरों में 452 मतदाता होने का दावा
भाजपा नेताओं ने दावा किया कि बिरगांव के अब्दुल रऊफ वार्ड के मकान नंबर 381, 382, 383 और 384 के पते पर कुल 452 मतदाताओं का नाम है। ये लोग उस मकान में नहीं रहते। फर्जी तरीके से इन नामों को मतदाता सूची में शामिल किया गया है। पार्षद पद के प्रत्याशी एक प्रभावशाली व्यक्ति ने दूसरी जगह रहने वाले लोगों का नाम फर्जी तरीके से जोड़ा है, ताकि अपने पक्ष में मतदान करा सके।

चुनाव निरस्त करने की मांग तक कर आए
भाजपा नेताओं ने अपने शिकायती ज्ञापन में कहा है, इन लोगों द्वारा फर्जी पहचानपत्र के सहारे फर्जी मतदान की पूरी संभावना है। ऐसे में मतदाता सूची की जांच कर उनका नाम सूची से हटाया जाएं। 20 दिसंबर, यानी मतदान से पहले नाम नहीं हटाया जाता तो उस वार्ड का चुनाव निरस्त कर दिया जाए। इस शिकायती ज्ञापन के साथ भाजपा नेताओं ने विवादित मतदाता सूची की प्रति भी आयुक्त को दी है।

बिरगांव की वोटर लिस्ट में गड़बड़ी की शिकायत
भाजपा की ओर से बिरगांव के चुनाव प्रभारी अजय चंद्राकर, भाजपा प्रवक्ता और पूर्व मंत्री राजेश मूणत, रायपुर जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी, पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल और ओपी चौधरी जैसे नेता सोमवार शाम राज्य निर्वाचन आयोग पहुंचे। इन नेताओं ने बिरगांव की मतदाता सूची में कथित गड़बड़ी की लिखित शिकायत की। इनमें पूर्व विधायक नंद कुमार साहू, विजय शर्मा, प्रफुल्ल विश्वकर्मा, अशोक पाण्डेय, वंदना राठौड सिन्हा, भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू, हेमंत सेवलानी, अमित मैशरी शाह, तुषार चोपड़ा और वासु शर्मा शामिल थे।

खबरें और भी हैं...