पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पूर्व मंत्री का सरकार पर आरोप:बृजमोहन बोले- प्रदेश में धर्मांतरण को बढ़ावा, धर्म बदलवाने वाले लोगों को थाने में चाय पिला रहे, शिकायत करने वालों पर दर्ज हो रहे केस

रायपुर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व मंत्री बृजमोहन ने कहा कि आगे कानून संभालना मुश्किल होगा। - Dainik Bhaskar
पूर्व मंत्री बृजमोहन ने कहा कि आगे कानून संभालना मुश्किल होगा।

धर्मांतरण के मुद्दे पर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश सरकार इसे बढ़ावा दे रही है। रविवार को पुरानी बस्ती थाने में हुए हंगामे की घटना के संबंध में उन्होंने कहा कि राजधानी में धर्मांतरण करने वालों को थाने में बुलाकर चाय पिलाई जा रही है। जो लोग शिकायत करने पहुंच रहे हैं उनके खिलाफ केस दर्ज किया जा रहा है। आखिर क्यों धर्मांतरण करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई नहीं हो रही। ऐसा ना होने पर उनके हौसले बुलंद होते हैं।

पूर्व मंत्री अग्रवाल ने कहा कि बस्तर के चिंतन शिविर में भी धर्मांतरण की बातें सामने आईं। बस्तर में 20 से ज्यादा प्रदर्शन धर्मांतरण के मुद्दे के खिलाफ हो चुके हैं, मगर सरकार ध्यान नहीं दे रही। मैदानी इलाके दुर्ग, रायपुर, महासमुंद जैसे शहरों में भी लोगों का जबरन धर्म परिवर्तन किया जा रहा है। यदि इन हरकतों पर लगाम नहीं कसी गई तो आने वाले दिनों में स्थिति भयानक होगी। कानून व्यवस्था संभालना मुश्किल हो जाएगा।

थाने में पादरी को पीटा

भाटागांव इलाके में रविवार को धर्मांतरण की शिकायत लेकर कुछ युवाओं का गुट पुरानी बस्ती थाने पहुंचा था। बजरंग दल और भाजपा से ताल्लुक रखने वाले युवकों ने पुलिस को बताया कि पादरी हरीश साहू लोगों को धार्मिक सभा में बुलाकर धर्म परिवर्तन कर रहा है। थानेदार के चैंबर में ही हरीश को युवकों ने जूतों से पीट दिया। इस मामले में पुलिस ने सम्भव शाह, शुभान्कर द्विवेदी, मनीष साहू, संजय सिंह, विकाश मित्तल, अनुरोध शर्मा और शुभम अग्रवाल पर केस दर्ज किया है।

धर्मांतरण की पटरी पर भाजपा की सियासी गाड़ी

अगस्त के महीने में भाजपा के युवा मोर्चा ने धर्मांतरण के विरोध में मार्च निकाला था। तब भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने मीडिया से बातचीत में ईसाई मिशनरीज में काम करने वालों को धमकी भी दी थी। साहू ने कहा था कि इस पद यात्रा के जरिए हम सांकेतिक तौर पर धर्मांतरण रोकने का प्रयास कर रहे हैं। इसके बाद भी बात नहीं बनी तो एक बार रोकेंगे और अगर धर्मांतरण का सिलसिला जारी रहा तो फिर ठोकेंगे।

भाजपा पर CM का हमला

हाल ही में धर्मांतरण के मुद्दे पर भाजपा ने कई तरह के आरोप कांग्रेस पर लगाए थे, CM भूपेश बघेल ने इस पर जवाब दिया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, भाजपा की सरकार में ही प्रदेश में सर्वाधिक चर्च बने हैं। उन्होंने कहा, संविधान ने सबको धार्मिक आजादी दी है। यहां कोई जबरन धर्मांतरण का एक भी मामला बता दे, कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री ने कहा, यहां उल्टा चोर कोतवाल को डांटे वाली स्थिति है। भाजपा सत्ता में वापसी के लिए धर्मांतरण का सहारा ले रही है। जबकि सबसे ज्यादा चर्च भाजपा के शासनकाल में ही बने हैं। हम सब अलग-अलग धर्मों के मानने वाले लोग हैं। जहां जिस समुदाय की आबादी अधिक होती है उससे जुड़े आस्था के केंद्र बनाए जाते हैं।

खबरें और भी हैं...