छत्तीसगढ़ में युवा IAS का इस्तीफा:पिछले सप्ताह नान से हटाए गए अमृत विकास टोपनो ने इस्तीफा दिया, अभी मंजूर नहीं हुआ

रायपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय प्रशासनिक सेवा के युवा अफसर के इस्तीफे से मंत्रालय में चर्चाओं का बाजार गर्म है। - Dainik Bhaskar
भारतीय प्रशासनिक सेवा के युवा अफसर के इस्तीफे से मंत्रालय में चर्चाओं का बाजार गर्म है।

छत्तीसगढ़ में भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक अधिकारी ने नौकरी छोड़ने की पेशकश कर दी है। बताया जा रहा है योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के उप सचिव अमृत विकास टोपनो ने मुख्य सचिव को अपना इस्तीफा भेजा है। टोपनो को पिछले सप्ताह ही नागरिक आपूर्ति निगम के महाप्रबंधक पद से हटाकर योजना विभाग में भेजा गया था।

मूल रूप से झारखंड के रहने वाले अमृत विकास टोपनो 2014 बैच के IAS अधिकारी हैं। वे नागरिक आपूर्ति निगम में महाप्रबंधक थे। सरकार ने 27 नवम्बर को एक आदेश जारी कर उन्हें नागरिक आपूर्ति निगम (NAN) से हटा दिया। उन्हें योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग में उप सचिव की जिम्मेदारी दी गई। इससे पहले टोपनो नान के महाप्रबंधक पद के साथ संस्कृति विभाग के संचालक का प्रभार भी देख चुके है। नान से हटने के बाद ही उनके इस्तीफे की खबर सामने आई है। इसकी वजह से मंत्रालय में चर्चाओं का बाजार गर्म है। बताया जा रहा है, टोपनो ने इस्तीफे के पीछे व्यक्तिगत कारण बताए हैं। हालांकि इसको ब्यूरोक्रेसी के विवाद के तौर पर भी देखा जा रहा है। सरकार ने अभी अफसर का इस्तीफा मंजूर नहीं किया है।

नान के आरोपी अफसरों की बढ़ सकती है मुश्किलें:ED की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को दिया नोटिस;10 दिन में मांगा जवाब

तीन अफसर पहले भी छोड़ चुके हैं नौकरी

राज्य बनने के बाद अभी तक तीन IAS अफसर नौकरी छोड़ चुके हैं। सबसे पहले 1994 बैच के IAS राजकमल ने इस्तीफा दिया। उन्होंने एक निजी कंपनी में काम शुरू किया। बाद में 1988 बैच के शैलेष पाठक भी निजी कंपनी में नौकरी के लिए IAS की नौकरी छोड़ गए। 2018 विधानसभा चुनाव से पहले 2005 बैच के अफसर ओपी चौधरी ने इस्तीफा दे दिया। चौधरी ने भाजपा जॉइन की। चुनाव लड़े और हार गए। अब वे पूर्णकालिक राजनीति में हैं।

खबरें और भी हैं...