पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महंगाई पर केंद्र को घेरने नागपुर गए CM:भूपेश बघेल ने कहा- कांग्रेस के दौर में भाजपा नसबंदी कार्यक्रम का विरोध न करती तो जनसंख्या नियंत्रित रहती

रायपुर13 दिन पहले
नागपुर जाने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर एयरपोर्ट पर यह बयान दिया।

कांग्रेस ने पूरे देश में केंद्र के खिलाफ माहौल बनाने के लिए अलग-अलग कार्यक्रम तय किए हैं। इसके लिए पार्टी के बड़े नेताओं को दूसरे प्रदेश में प्रेस से बात करने और वहां के कांग्रेस कार्यकर्ताओं को मोटिवेट करने भेजा जा रहा है। इसी के तहत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नागपुर गए हैं। वे वहां केंद्र की कुछ नीतियों के विरोध में प्रेस व कार्यकर्ताओं से बात करेंगे। नागपुर जाने से पहले उन्होंने रायपुर एयरपोर्ट पर मीडिया से बात की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जनसंख्या नियंत्रण कानून के मुद्दे पर भाजपा पर निशाना साधा है। बघेल ने कहा कि विपक्ष ने कांग्रेस के शासन के दौरान 70 के दशक में नसबंदी कार्यक्रम का कड़ा विरोध किया था। अगर वह कार्यक्रम जारी रहता तो आज जनसंख्या नियंत्रित रहती। महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार को घेरने के कांग्रेस के अभियान के तहत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को मीडिया से चर्चा कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘यही भारतीय जनता पार्टी है, जब नसबंदी कार्यक्रम चला था तो इन्होंने विरोध किया था। यदि उस समय नसबंदी को आगे बढ़ाते तो आज जनसंख्या नियंत्रित रहती है। लेकिन उस समय तमाम विपक्ष के लोगों ने इसे मुद्दा बनाया। 1977 के लोकसभा चुनाव में यह विपक्ष का प्रमुख मुद्दा था। इसकी वजह से जनसंख्या नियंत्रण का वह पूरा कार्यक्रम प्रभावित हुआ था।

जन-जागरण बहुत जरूरी
आज कानून बनाकर नियंत्रण की बात की जा रही है। लेकिन, जब तक लोग जागरूक नहीं होंगे, तब तक कानून बनाने से समस्या का समाधान नहीं होगा। बहुत से परिवार हैं जो एक या दो बच्चों का महत्व समझ रहे हैं। वे लोग भी चाहते हैं कि उनके बच्चे पढ़ें-लिखें और उनके जीवन स्तर में सुधार हो। यह बात गरीब से गरीब आदमी भी समझ रहा है। मैं समझता हूं कि जनजागरण चलाना चाहिए, केवल राजनीति करने के लिए कानून नहीं बनाना चाहिए। पहले भी हम दो हमारे दो जैसा नारा था। उसको आगे बढ़ाना चाहिए।

भाजपा सरकार की वजह से बढ़ रही महंगाई
बघेल ने कहा, सत्ता में आने के बाद भाजपा को कुछ समझ नहीं आ रहा है। उन्हें ना किसानों की बात समझ आती है, न ही महिलाओं की। यह महंगाई इसलिए नहीं कि पेट्रोल-डीजल की उपलब्धता नहीं है, बल्कि यह सरकार की गलत नीतियों की वजह से है। पहले नोटबंदी, GST लगाया फिर लॉकडाउन गलत ढंग से लगाया इसलिए महंगाई बढ़ रही है। महंगाई का सबसे बड़ा कारण पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में बढ़ोतरी है। अंतरराष्ट्रीय मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमत कम है, इसके बावजूद एक्साइज ड्यूटी बहुत ज्यादा है। मोदी सरकार की गलत नीतियों का परिणाम जनता को भुगतना पड़ रहा है।

किसान आंदोलन के लिए केंद्र सरकार को बताया जिम्मेदार
केंद्र सरकार के तीन कृषि संबंधी कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, केंद्र सरकार ने जो तीन काले कानून बनाए हैं, उसकी वापसी के लिए कांग्रेस ने भी लड़ाई लड़ी। हमारे नेता राहुल गांधी ने सबसे पहले आवाज बुलंद की। ट्रैक्टर रैलियां की। अभी भी किसान आंदोलन को 7 महीने से ऊपर हो चुका है, लेकिन सरकार की हठधर्मिता के कारण वह आंदोलन चल ही रहा है। किसानों की बात सुनकर उसे जल्दी खत्म किया जाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...