छत्तीसगढ़ में डेल्टा वैरिएंट को लेकर अलर्ट:मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र से आवाजाही पर कड़ी नजर रखने के निर्देश, इन प्रदेशों में मिला है कोरोना का नया वैरिएंट

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी हो गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र से लगी सीमाओं के जरिए हो रही आवाजाही पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया है। इन दोनों पड़ोसी प्रदेशों में कोरोना का यह नया वैरिएंट मिला है।

पड़ोसी प्रदेशों, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में डेल्टा वैरिएंट की मौजूदगी की पुष्टि के बाद छत्तीसगढ़ सरकार के कान खड़े हो गए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश में भी इससे सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने दोनों राज्यों में इस नए वैरिएंट की मौजूदगी को देखते हुए अंतरराज्यीय सीमाओं पर आवाजाही पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने लोगों से भी अपील की है कि वे कोविड-19 एप्रोप्रिएट बिहेवियर का पालन करते हुए पूरी सावधानी और सतर्कता बरतें। मास्क का उपयोग, हैंड-हाईजीन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का कड़ाई से पालन करें। बताया जा रहा है कि कोरोना का यह नया वैरिएंट पुराने की तुलना में कई गुना तेजी से फैलता है।

अभी तक छत्तीसगढ़ में कोई केस नहीं

अधिकारियों ने बताया, प्रदेश में अभी मिल रहे कोरोना के नए मामलों में डेल्टा प्लस वैरिएंट का पता लगाने रायपुर एम्स और रायपुर मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब से सैंपल भुवनेश्वर एम्स और नेशनल वॉयरोलॉजी लैब पुणे को भेजा जा रहा है। अभी तक यहां किसी भी सैंपल में डेल्टा प्लस वैरिएंट नहीं पाया गया है।

क्या है यह डेल्टा प्लस वैरिएंट

कोरोना का यह नया वैरिएंट भारत में सबसे पहले सामने आए डेल्टा (B.1.617.2) के म्यूटेशन से बना है। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका के बीटा वैरिएंट के लक्षण भी इससे मिलते हैं। इसलिए यह ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अभी तक 8 राज्यों में इसके 40 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, केरल, पंजाब, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, जम्मू कश्मीर और कर्नाटक हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे वायरस ऑफ कंसर्न बताया है।

खबरें और भी हैं...