ACB के शिकंजे में भ्रष्टाचारी:​​​​​​​बेमेतरा के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर, सूरजपुर में स्कूल प्रिंसिपल और दुर्ग में पटवारी सहित 2 गिरफ्तार

रायपुर/दुर्ग/बेमेतरा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ ACB ने रिश्वत लेते रायपुर से बेमेतरा के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर, सूरजपुर से स्कूल प्रिंसिपल और दुर्ग से पटवारी व उसके सहयोगी को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ ACB ने रिश्वत लेते रायपुर से बेमेतरा के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर, सूरजपुर से स्कूल प्रिंसिपल और दुर्ग से पटवारी व उसके सहयोगी को गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ में सोमवार को कई जिलों में ACB ने कार्रवाई की। इस दौरान बेमेतरा में पदस्थ मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर (EE) दीनदलयाल जायसवाल सहित सूरजपुर में स्कूल प्रिंसिपल और दुर्ग में पटवारी व उसके एक सहयोगी को गिरफ्तार किया है। EE जायसवाल को रायपुर से पकड़ा गया है। यह कार्रवाई ACB की एडिशनल SP अमृता सोरी के निर्देशन में रायपुर और सरगुजा यूनिट ने की है।

मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना बेमेतरा में पदस्थ EE दीनदलयाल जायसवाल।
मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना बेमेतरा में पदस्थ EE दीनदलयाल जायसवाल।

रायपुर : बिल भुगतान एवज में 2 लाख मांगे, 22 हजार लेते पकड़ा
ACB में शिकायत की गई थी कि मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना में बेमेतरा में पदस्थ EE दीनदलयाल जायसवाल ने 2 लाख रुपए की मांग की है। यह रुपए आंशिक रूप से पूर्ण कार्य का रनिंग बिल निकालने की एवज में मांगे गए हैं। शिकायत पर ACB ने पुष्टि की और सोमवार को ट्रैप किया। आरोपी इंजीनियर रायपुर के न्यू शांति नगर कॉलोनी में रहता है। उसने रिश्वत की रकम लेकर पचपेड़ी नाका स्थित हनुमान मंदिर के पास बुलाया था। रुपए लेते ही टीम ने उसे पकड़ लिया।

धरमपुरा शासकीय उच्चतर माध्यामिक स्कूल के प्रिंसिपल शिवधर ओझा।
धरमपुरा शासकीय उच्चतर माध्यामिक स्कूल के प्रिंसिपल शिवधर ओझा।

सूरजपुर : प्रिंसिपल को 2 हजार रुपए लेते पकड़ा
टीम ने धरमपुरा शासकीय उच्चतर माध्यामिक स्कूल के प्रिंसिपल शिवधर ओझा को 2000 रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। आरोपी प्रिंसिपल ने वहीं के रिटायर्ड कर्मचारी से सातवें वेतनमान का एरियर, एक माह का वेतन भुगतान करने की एवज में 8 हजार रुपए मांगे थे। इसके लिए कर्मचारी ने 5500 रुपए का भुगतान पहले ही कर दिया था। शेष राशि 2500 रुपए के लिए लगातार कर्मचारी पर दबाव था। इस पर कर्मचारी ने शिकायत की। ट्रैप कर टीम ने 2000 रुपए लेते पकड़ लिया।

आरोपी पटवारी प्रमोद कुमार श्रीवास्तव और उसका सहयोगी लेखराम निषाद।
आरोपी पटवारी प्रमोद कुमार श्रीवास्तव और उसका सहयोगी लेखराम निषाद।

दुर्ग : लैंड सर्टिफिकेशन के लिए पटवारी ने मांगे थे 6000 रुपए
वहीं दुर्ग में ACB को शिकायत मिली थी कि खरीदी गई जमीन का प्रमाणीकरण और ऋण पुस्तिका जारी करने की एवज में ग्राम कचांदुर का हल्का पटवारी नंबर 17 प्रमोद कुमार श्रीवास्तव ने 6000 रुपए की मांग की थी। शिकायत के सत्यापन के बाद टीम ने ट्रैप किया और पटवारी को 5500 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में उसके सहयोगी लेखराम निषाद को भी पकड़ा है। प्रमोद कुमार श्रीवास्तव दुर्ग-3 हल्का ब्लॉक के पटवारी संघ का अध्यक्ष भी है।

खबरें और भी हैं...