सरकारी स्कूल टीचर के लिए 'तिलक' फालतू:बच्चे बोले- हाथों में बांधा कलावा भी काटा, कहा- सब बेकार की चीजें; BEO ने जांच कमेटी बनाई

खरौरा6 महीने पहले

छत्तीसगढ़ के आरंग में सरकारी स्कूल के एक टीचर पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगा है। आरोप भी उसी स्कूल में पढ़ने वाले 8वीं क्लास के बच्चों ने लगाया है। बच्चों के आरोपों के बाद परिजन बुधवार को स्कूल पहुंचे और जमकर हंगामा हुआ। बात बढ़ी तो स्कूल शिक्षा विभाग को दखल देना पड़ा। फिलहाल मामले की जांच के लिए BEO ने एक कमेटी गठित कर दी है। दूसरी ओर टीचर ने इन आरोपों को पूरी तरह से झूठ बताया है।

बच्चों की शिकायत के बाद स्कूल पहुंचे परिजन।
बच्चों की शिकायत के बाद स्कूल पहुंचे परिजन।

आरंग के लोधी पारा में शासकीय शांति बाई नामदेव स्कूल है। इसी में पदस्थ हैं आरोपी शिक्षक अंकुश फ्रेंकलिन। अंकुश स्कूल में बच्चों को मैथ्स पढ़ाते हैं। बच्चों का कहना है कि टीचर को माथे पर लगाए जाने वाले तिलक से आपत्ति है। वह इसे फालतू मानते हैं। हाथ में कलावा यानी रक्षा सूत्र बांधकर स्कूल जाते हैं तो उसे भी आरोपी टीचर कैंची से काट देते हैं। कहते हैं कि यह सब बेकार की चीजें हैं। टीचर पर अभद्रता पूर्ण व्यवहार करने का भी आरोप लगाया है।

हाथ से कलावा काटने का निशान दिखाते बच्चे।
हाथ से कलावा काटने का निशान दिखाते बच्चे।

आरोपी टीचर बोला- शैतानी पर डांटा, पर ऐसे आरोप क्यों, पता नहीं
बच्चों ने जानकारी परिजनों को दी तो स्कूल पहुंच गए और हंगामा शुरू हो गया। आरोप है कि स्कूल में ऐसे कई छात्र हैं जो शिक्षक अंकुश फ्रैंकलिन की इन हरकतों से काफी परेशान है। वहीं आरोपी शिक्षक अंकुश ने आरोपों को निराधार बताया है। उनका कहना है कि मैं सभी धर्म का आदर करता हूं। बच्चे शैतानी करते हैं तो डांट-फटकार जरूर करता हूं, लेकिन वे ऐसे आरोप क्यों लगा रहे हैं इसका पता नहीं है। आप अन्य बच्चों से भी पूछ सकते हैं।

शिकायत के बाद पहुंची BEO ने बच्चों से पूछताछ की।
शिकायत के बाद पहुंची BEO ने बच्चों से पूछताछ की।

BEO स्कूल पहुंची, कहा- जांच के बाद कार्रवाई होगी
मामले की जानकारी विकास खंड शिक्षा अधिकारी डेजी रानी जांगड़े को मिली तो वे स्कूल पहुंच गईं। उन्होंने कहा कि बच्चों ने अभद्रता, धार्मिक भावनाएं भड़काने और गाली-गलौज देने की बात कही है। कहा कि बार-बार ऐसा करते रहे हैं। इसके बाद जांच कमेटी बनाई है। कन्या स्कूल के प्राचार्य मामले की जांच और पूछताछ कर रिपोर्ट सौंपेंगे। छात्रों के आरोपों पर शिक्षक से जवाब मांगा है। रिपोर्ट शिक्षक के खिलाफ मिलने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और भी हैं...