पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खरीफ से पहले महंगाई का मुद्दा:छत्तीसगढ़ में केंद्र के खिलाफ 15 मई को प्रदर्शन करेगी किसान कांग्रेस, खाद और डीजल के दाम कम करने की मांग

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लॉकडाउन के बीच किसान कांग्रेस का यह प्रदर्शन पूरी तरह सांकेतिक होगा। कांग्रेस के दूसरे आनुषांगिक संगठन भी ऐसे ही प्रदर्शन कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
लॉकडाउन के बीच किसान कांग्रेस का यह प्रदर्शन पूरी तरह सांकेतिक होगा। कांग्रेस के दूसरे आनुषांगिक संगठन भी ऐसे ही प्रदर्शन कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ किसान कांग्रेस 15 मई को केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी। इस बार उसका मुद्दा रासायनिक खाद और डीजल की महंगाई है। किसान कांग्रेस की वर्चुअल बैठक में आज इसका फैसला हुआ। इसमें किसान कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारी और जिला अध्यक्ष शामिल हुए थे।

किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर शुक्ला ने बताया कि 15 मई को किसान कांग्रेस के कार्यकर्ता अपने-अपने घरों में धरना देंगे। स्थानीय प्रशासन को ऑनलाइन ज्ञापन भेज दिया जाएगा। सोशल मीडिया माध्यमों से किसानों तक इसका संदेश भेजा जाएगा। इस प्रदर्शन में हम केंद्र सरकार से रासायनिक खाद के मूल्य में की गई वृद्धि को तत्काल वापस लेने की मांग करेंगे। किसानों को खेती के लिए सस्ता डीजल उपलब्ध कराने की मांग करेंगे। पिछले वर्ष खरीदे गए धान का 60 लाख मीट्रिक टन चावल भी लेने की मांग उठाई जाएगी। चंद्रशेखर शुक्ला ने बताया कि बैठक के दौरान रासायनिक खादों में मूल्य वृद्धि को डकैती बताया गया है। प्रदेश इकाई ने इस मूल्य वृद्धि की निंदा की है।

राज्य सरकार से मंडी खोलने की मांग
किसान कांग्रेस ने राज्य सरकार से भी कृषि उपज मंडियों को खोलने की मांग की है। नेताओं का कहना था कि गेहूं, धान, सब्जी आदि को बेचने के लिए इन मंडियों का खोला जाना जरूरी है। कृषि सहकारी समितियों को भी खोलने की मांग उठी। ताकि खाद-बीज का भंडारण हो सके।

खबरें और भी हैं...