CG में शुरू हुई धान खरीदी:खरीदी केंद्रों पर पहुंचे CS, धान तुलाई से पहले तोलकांटे की पूजा की; किसानों का माला पहनाकर स्वागत

रायपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ में बुधवार से धान की सरकारी खरीदी शुरू हो गई। औपचारिक शुरुआत के लिए प्रदेश के मुख्य सचिव (चीफ सेक्रेटरी) अमिताभ जैन खुद रायपुर के जरोदा और बंगोली केंद्रों पर पहुंचे। धान की तुलाई शुरू करने से पहले मुख्य सचिव ने तोलकांटे की पूजा की। नारियल फोड़ा और धान बेचने आए किसानों का माला पहनाकर स्वागत किया।

सरकार ने प्रदेश भर के 2 हजार 399 केंद्रों पर धान खरीदी की शुरुआत की है। इस बार धान बेचने के लिए 22 लाख 66 हजार किसानों ने पंजीयन कराया है। बुधवार से शुरू हुई यह खरीदी 31 जनवरी 2022 तक चलनी है। सरकार को उम्मीद है कि इन दो महीनों में किसानों से 105 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी होगी। वर्ष 2021-22 के लिए औसत अच्छी किस्म के धान के लिए समर्थन मूल्य की दर 1940 रुपए प्रति क्विंटल और ग्रेड ए धान के लिए 1960 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित है। इसका भुगतान ऑनलाइन ट्रांसफर के जरिये किसानों के बैंक खाते में किया जाएगा।

इधर, रायपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, उनकी कोशिश है कि किसानों का अधिक से अधिक धान खरीदा जाए। पहले धान की रखवाली और तुलाई के लिए किसान रात-रात भर केंद्रों पर रहते थे। अब ऐसा नहीं होता। उनकी सरकार ने खरीदी केंद्रों की संख्या बढ़ाई है। इसका फायदा किसानों को मिल रहा है।

अधिकारियों को जांच का जिम्मा

सरकार ने धान खरीदी व्यवस्था के सुचारू एवं पारदर्शी संचालन के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं। इन नोडल अधिकारियों द्वारा प्रतिदिन धान खरीदी तथा अन्य व्यवस्था व समस्याओं से संबंधित स्थितियों की मॉनिटरिंग की जानी है। मुख्य सचिव ने धान खरीदी केन्द्रों के नियमित निरीक्षण और परीक्षण के लिए सेक्टर बनाकर जोनल अधिकारियों की तैनाती का निर्देश दिया है। ये जोनल अधिकारी अपने प्रभार के धान खरीदीे केन्द्रों में नियमित रूप से भ्रमण करेंगे और व्यवस्था सुचारू रूप से सम्पादित कराएंगे।

खरीदी के दौरान केंद्रों पर गश्त बढ़ाएगी पुलिस

मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने खरीदी केंद्रों में विवाद की स्थिति रोकने के लिए हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया है। उन्होंने तकनीकी क्षमताओं और स्थानीय लोगों की मदद से धान खरीदी केन्द्रों पर किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति को रोकने और ऐसे अप्रिय कार्यों में लिप्त व्यक्तियों के विरूद्ध कानूनी कार्रवाई करने को कहा है। इसके अलावा उन्होंने धान खरीदी केंद्र में पुलिस की नियमित गश्त बढ़ाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है, आवश्यक होने पर विवादित केन्द्रों में पुलिस बल की भी तैनाती की जाए।

मंत्री अमरजीत भगत भी जाएंगे खरीदी केंद्र

खाद्य मंत्री अमरजीत भगत भी धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण करने जा रहे हैं। तय कार्यक्रम के मुताबिक खाद्य मंत्री रायपुर जिले के मंदिरहसौद, पारागांव, बिरकोनी, कांपा, पटेवा व झलप के धान खरीदी केंद्रों में जाएंगे। वहां निरीक्षण के बाद वे महासमुंद जिले के डूमरपाली और अचानकपुर जाने वाले हैं। वहां नए धान खरीदी केंद्र का शुभारंभ करेंगे।

खबरें और भी हैं...