पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना काल में राजनीति:भाजपा विधायक जिला कोषालय में जमा कराएंगे एक महीने का वेतन, अव्यवस्थाओं के खिलाफ धरना भी देंगे

रायपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा कोरोना प्रबंधन की खामियों को लेकर लगातार मुखर है। केंद्र सरकार ने से मिले वेंटिलेटर के मुद्दे पर वह राज्यपाल से मिलकर जांच की मांग भी कर चुकी है। - Dainik Bhaskar
भाजपा कोरोना प्रबंधन की खामियों को लेकर लगातार मुखर है। केंद्र सरकार ने से मिले वेंटिलेटर के मुद्दे पर वह राज्यपाल से मिलकर जांच की मांग भी कर चुकी है।

कोरोना का संक्रमण तीव्र होते जाने से मचे कोहराम के बीच भाजपा ने राजनीतिक मोर्चा संभाल लिया है। भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी और नितिन नवीन के साथ बैठक में तय हुआ है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग के लिए भाजपा विधायक अपना एक महीने का वेतन देंगे। वहीं भाजपा कार्यकर्ता 24 अप्रैल को अपने घर के बाहर बैठकर सरकारी अव्यवस्था का विरोध जताएंगे।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बताया, बैठक में कोरोना महामारी की स्थिति को लेकर चिंता जताई गई। तय हुआ कि इस विपरीत परिस्थिति में प्रदेश की जनता के साथ खड़ी रहेगी। विधायक अपने एक महीने का वेतन सरकार के जिला कोष में जमा करेंगे। वहीं विधानसभा क्षेत्र में 25 लाख रुपये अपनी विधायक निधि से देंगे।

कौशिक ने कहा, इस बैठक में कोरोना से निपटने में कांग्रेस सरकार की नाकामियों को भी जनता के बीच ले जाने का फैसला हुआ है। उसके लिये चरणबद्ध कार्यक्रम तय हुआ है। पार्टी के नेता 18 अप्रैल को जिलों में प्रेस से बात करेंगे। वहीं 20 अप्रैल को ब्लॉक स्तर पर सरकार की नीतियों में खामियों की जानकारी दी जाएगी। सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने के लिये 24 अप्रैल को सभी कार्यकर्ता अपने घरों के बाहर धरने पर बैठेंगे।

वरिष्ठ नेताओं को सक्रिय रहने को कहा

बताया जा रहा है कि भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने कोरोना काल में कुछ नेताओं के बिल्कुल शांत बैठ जाने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा है, छत्तीसगढ़ की हालत अभी चिंताजनक है। इस समय भाजपा के नेताओं को अधिक से अधिक काम करना होगा। उन्होंने कहा, सभी नेता अपने क्षेत्र में सक्रिय रहे और लोगों की मदद करते दिखने चाहिये।

खबरें और भी हैं...