निजी अस्पतालों में इलाज की नई दरें:प्रदेश में प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना इलाज के लिए नई रेट लिस्ट जारी, अब एक दिन में 6200 से लेकर 17 हजार रुपए तक ले सकेंगे फीस

रायपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ में प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना इलाज के लिए नई रेट लिस्ट जारी। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ में प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना इलाज के लिए नई रेट लिस्ट जारी।

छत्तीसगढ़ राज्य शासन ने निजी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए नई दरें निर्धारित की हैं। विभाग द्वारा जारी नए आदेश के अनुसार, NABH (National Accreditation Board of Hospitals) से मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों में मॉडरेट स्थिति वाले मरीजों के इलाज के लिए प्रतिदिन 6200 रुपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। इसमें सर्पोर्टिव केयर आइसोलेशन बेड के साथ ऑक्सीजन और PPE किट का खर्च शामिल है।

अब निजी अस्पतालों पर नजर
प्रदेश में अब गंभीर स्थिति वाले मरीजों के इलाज के लिए रोजाना 12 हजार रुपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। इसमें बगैर वेंटिलेटर के ICU सुविधा शामिल है। अति गंभीर मरीजों के इलाज के लिए 17 हजार रुपए प्रतिदिन की दर निर्धारित की गई है। इसमें वेंटिलेटर के साथ ICU सुविधा शामिल है। वहीं NABH से गैर मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों के लिए मॉडरेट, गंभीर और अति गंभीर मरीजों के इलाज के लिए प्रतिदिन 6200 रुपए, 10 हजार रुपए व 14 हजार रुपए का शुल्क निर्धारित किया गया है। निजी अस्पतालों में कोरोना के इलाज में होने वाला व्यय मरीज को स्वयं वहन करना होगा। शासन द्वारा निर्धारित दरों में कोरोना की जांच, हाई-एंड मेडिसीन्स, सीटी स्कैन और MRI जैसे हाई-एंड डाइग्नोस्टिक टेस्ट तथा कोरोना मरीज की अन्य गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए किया जाने वाला प्रोसिजर शामिल नहीं है।

अस्पताल डेड-बॉडी के स्टोरेज और परिवहन के लिए अधिकतम ढाई हजार रुपए ले सकेंगे। कोरोना मरीजों के इलाज के दौरान राज्य शासन के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग और ICMR द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन अनिवार्य है। इनके उल्लंघन पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। राज्य शासन द्वारा निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए आदेश एपेडेमिक डिसीज एक्ट-1897 और छत्तीसगढ़ पब्लिक एक्ट-1949 के अंतर्गत जारी किया गया है।

खबरें और भी हैं...