बिलासपुर-सरगुजा संभाग में भारी बारिश की चेतावनी:छत्तीसगढ़ के दूसरे जिलों में भी होगी बरसात; यात्रा करते समय रखें सावधानी, मौसम विशेषज्ञों ने कहा गिर सकती है बिजली

रायपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रायपुर के आसमान में ऐसे बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने रायपुर जिले के लिए भी वज्रपात की हल्की चेतावनी जारी की है। - Dainik Bhaskar
रायपुर के आसमान में ऐसे बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने रायपुर जिले के लिए भी वज्रपात की हल्की चेतावनी जारी की है।

अगर आप आज के दिन यात्रा कर रहे हैं अथवा खुले मैदान, खेत में काम करने की सोच रहे हैं तो सावधान रहने की जरूरत है। मौसम विभाग ने प्रदेश के एक-दो स्थानों पर भारी बरसात की आशंका जताई है। भारी वर्षा का क्षेत्र बिलासपुर और सरगुजा संभाग बताया जा रहा है। वहीं एक-दो स्थानों पर बिजली गिरने की चेतावनी भी जारी हुई है।

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया- चक्रीय चक्रवाती घेरा गंगेटिक पश्चिम बंगाल और उसके आसपास में बना हुआ है। इसके प्रभाव से एक निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिण-पश्चिम बिहार और उससे लगे दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश के ऊपर बना है। इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा मध्य ट्रोपोस्फेरिक लेवल तक स्थित है। एक द्रोणिका पश्चिम राजस्थान से उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक दक्षिण हरियाणा, निम्न दाब का केंद्र, झारखंड और गंगेटिक पश्चिम बंगाल होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इसकी वजह से अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ भारी वर्षा होने तथा वज्रपात होने की संभावना है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः बिलासपुर संभाग और सरगुजा संभाग रहने की संभावना है।

इन 10 जिलों में बिजली गिरने की अधिक आशंका
मौसम विभाग ने प्रदेश के सभी जिलों के लिए बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। लेकिन, 10 जिलों में चेतावनी का स्तर मध्यम है। यहां बिजली गिरने की संभावना दूसरे जिलों से कहीं अधिक है। इन जिलों में सरगुजा, जशपुर, कोरिया, सूरजपुर, बलरामपुर, बिलासपुर, रायगढ़, मुंगेली, कोरबा, जांजगीर-चांपा शामिल हैं।

बिजली से बचने के लिए यह उपाय करें

  • जब आप घर के भीतर हों तो बिजली से संचालित उपकरणों से दूर रहें, तार वाले टेलीफोन का उपयोग नहीं करना चाहिए। खिड़कियां व दरवाजे बंद कर दें बरामदे और छत से दूर रहें। इसके अलावा ऐसी वस्तुएं जो बिजली के सुचालक हैं उनसे भी दूर रहना चाहिए। धातु से बने पाइप, नल, फव्वारा, वाॅश बेसिन से दूरी बनाए रखें।
  • आप घर के बाहर हैं तो बिजली चमकते समय पेड़ के नीचे न खड़े रहें, ऊंची इमारतों वाले क्षेत्र में आश्रय न लें, समूह में खड़े होने के बजाय अलग-अलग हो जाएं। किसी मकान में आश्रय लेना बेहतर है।
  • सफर के दौरान अपने वाहन में ही रहें। मजबूत छत वाले वाहन में रहें, खुली छत वाले वाहन की सवारी न करें, बाहर रहने पर धातु से बने वस्तुओं का उपयोग न करें। बाइक, बिजली या टेलीफोन का खंभा तार की बाड़ और मशीन आदि से दूर रहें। तालाब और जलाशयों से दूर रहें यदि आप पानी के भीतर हैं अथवा किसी नाव में हैं तो तुरंत बाहर आ जाएं।

सिर के बाल खड़े हो जाएं तो समझिए बिजली गिरेगी
यदि आकाशीय बिजली चमक रही है और आपके सिर के बाल खड़े हो जाएं व त्वचा में झुनझुनी होने लगे तो फौरन नीचे झुककर कान बंद कर लें। क्योंकि, यह इस बात का सूचक है कि आपके आसपास बिजली गिरने वाली है। नीचे झुकने में छाती को जमीन के संपर्क में न आने दें।

सुरक्षा के लिए यह सावधानी भी जरूरी
बरसात के समय तेज गाड़ी न चलाएं। सड़क पर जलभराव हो तो वहां की पूरी जानकारी के बिना उसे पार करने की कोशिश न करें। पुल या रपटे के ऊपर से पानी बह रहा हो तो उसे पार करने की कोशिश बिल्कुल न करें। नदी कछार और जलभराव वाले क्षेत्रों से दूर रहें। पहाड़ी इलाकों में लैंड स्लाइड के खतरे वाली जगह ड्राइव करने से बचें।

खबरें और भी हैं...