छत्तीसगढ़ में आज से खुले स्कूल:CM भूपेश बघेल ने मिठाई खिलाकर बच्चों का किया स्वागत; नक्सल प्रभावित इलाकों के बंद स्कूलों में भी बजी घंटी

रायपुर6 महीने पहले
इस स्कूल को वर्षों पहले नक्सलियों ने बंद करा दिया था, गुरुवार से यहां फिर से पढ़ाई शुरू हो गई है।

गर्मी की लंबी छुटि्टयों के बाद छत्तीसगढ़ में गुरुवार को स्कूल खुल गए हैं। दोपहर बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेश स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का आगाज किया। मुख्यमंत्री ने विशेष रूप से बुलाए गए विद्यार्थियों का तिलक लगाकर स्वागत किया। मिठाई खिलाई और यूनिफार्म और बस्ता भेंट किया। प्रवेश उत्सव का आयोजन मुख्यमंत्री निवास में किया गया था। इस आयोजन का जिलों के मुख्य स्कूलों में सीधा प्रसारण भी किया गया।

मुख्यमंत्री बटन दबाकर नक्सल प्रभावित चार जिलों सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर और नारायणपुर में बंद पड़े 260 स्कूलों को फिर से शुरू किया। इन स्कूलों से 11 हजार 13 बच्चों का दाखिला हुआ है। बीजापुर जिले में सबसे अधिक 158 स्कूल खोले गए हैं। सुकमा जिले में 97, नारायणपुर जिले में 4 और दंतेवाड़ा जिले में एक बंद स्कूल फिर से खोला गया है। इस मौके पर पुनः खोले जा रहे स्कूलों के पालकों और बच्चों से मुख्यमंत्री, ऑनलाइन सीधा संवाद भी किया।

मुख्यमंत्री ने छात्राओं का मुह मीठा करा स्कूल में स्वागत किया।
मुख्यमंत्री ने छात्राओं का मुह मीठा करा स्कूल में स्वागत किया।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम और बीजापुर के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा भी कार्यक्रम को संबोधित करने वालों में शामिल थे। इस मौके पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू,नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, संसदीय सचिव रश्मि सिंह, कुंवर सिंह निषाद और विधायक रामकुमार यादव भी मौजूद रहे। प्रवेश उत्सव से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, नए शिक्षा सत्र 2022 की शुरुआत हम बहुत उम्मीदों के साथ कर रहे हैं। इस वर्ष नियमित शालाएं संचालित हों, साथ ही पिछले सत्रों में हुए नुकसान की भरपाई भी हो सके। नए सत्र के साथ हम नए कार्यों का आगाज भी कर रहे हैं।

जिलाें में भी प्रवेशोत्सव की धूम रही

प्रदेशव्यापी शाला प्रवेश उत्सव के मुख्य कार्यक्रम के बाद जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव के कार्यक्रम 3 बजे से शुरू हुए। जिला स्तर पर आयोजित कार्यक्रम में नव-प्रवेशित बच्चों का मिठाई, गुलाल, पुस्तक एवं यूनिफार्म वितरण कर प्रतिभाशाली बच्चों का सम्मान एवं स्वागत किया गया। यहां पर भी जनप्रतिनिधि आदि शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...