कोरोना संक्रमण:रायपुर में 9 मई के बाद 2700 टेस्ट में शून्य मरीज; तीसरी लहर में बच्चों को खतरा, पर इस माह 20 साल कम उम्र के इक्का-दुक्का केस ही

रायपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में कोरोना के 38 नए संक्रमित मिले हैं, जबकि रायपुर में पिछले साल 9 मई के बाद पहली बार कोरोना मरीजों का आंकड़ा शून्य आया है। राजधानी समेत पूरे जिले में सोमवार को 27 सौ अधिक लोगों की कोरोना जांच हुई है। जिसमें से एक भी पॉजिटिव नहीं मिला है। इतना ही नहीं रायपुर समेत प्रदेश के 14 जिलों में एक भी नया मरीज नहीं है। पिछले 24 घंटे में शून्य मौत हुई है।

सितंबर में तीसरी लहर और बच्चों में संक्रमण बढ़ने की बातें चल रही थीं, लेकिन सितंबर के 13 दिन में कोरोना का नया ट्रेंड यह है कि कुल 423 मरीज मिले हैं, जिनमें 20 साल से कम उम्र के संक्रमित 15 फीसदी से भी कम हैं यानी इक्का-दुक्का। ज्यादातर मरीज 21 से 80 साल तक की उम्र वाले ही हैं। छत्तीसगढ़ में कोरोना की रफ्तार बहुत ही कम हो गई है। बीते दो हफ्ते में मिले 423 से अधिक मामलों में से 20 से 50 साल के बीच की उम्र के संक्रमित 70 फीसदी से अधिक रहे हैं। इस माह नए मरीज रोजाना 32 की औसत से मिल रहे हैं। जबकि अगस्त में प्रदेश में यह औसत 79 केस प्रतिदिन था। इस हिसाब से महीनेभर में छत्तीसगढ़ में 24 सौ से अधिक मरीज मिले थे। ऐपिडेमिक कंट्रोल के डायरेक्टर डॉ. सुभाष मिश्रा के बताया कि केस लगातार कम हो रहे हैं। एज ग्रुप का पैटर्न भी अलग है। लेकिन इशारा युवाओं और बुजुर्गों की तरफ है कि वे बाहर निकलते समय सतर्क रहें।

इधर, देश में टीके 75 करोड़ पार
नई दिल्ली| देश में कोरोना के खिलाफ टीकाकरण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। सोमवार को टीकों की संख्या 75 करोड़ पार हो गई। देश में अब तक 57 करोड़ लोगों को सिंगल, 18 करोड़ को दोनों डोज लग चुकी हैं। सोमवार को यूपी में सबसे ज्यादा 16.67 लाख टीके लगे।

खबरें और भी हैं...