3 जनवरी से बच्चों को कोवैक्सीन:छत्तीसगढ़ में 15 से 18 साल तक के 16.39 लाख बच्चों को लगना है टीका, टीकाकरण से पहले प्रशिक्षण

रायपुर6 महीने पहले

कोरोना के खतरे से बच्चों को बचाने के लिए टीकाकरण अभियान का नया चरण 3 जनवरी से शुरू हो रहा है। इस चरण में 15 से 18 वर्ष तक के बच्चों को कोवैक्सीन टीके की खुराक लगाई जाएगी। छत्तीसगढ़ में ऐसे 16 लाख 39 हजार बच्चों को टीका लगाये जाने की तैयारी तेज हो गई है। टीकाकरण शुरू होने से पहले स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण कर्मियों को अलग से प्रशिक्षण भी देगा।

छत्तीसगढ़ के राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. वीआर भगत ने बताया, प्रदेश के सभी कोरोना टीकाकरण केंद्रों के जरिये ही बच्चों का भी टीकाकरण होगा। प्रदेश में 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के 16 लाख 39 हजार बच्चे हैं। केंद्र सरकार ने तय किया है कि बच्चों को केवल कोवैक्सीन लगाई जाएगी। अभी विस्तृत दिशानिर्देश नहीं आए हैं। आज शाम तक उसके जारी होने की संभावना बताई जा रही है।

वह दिशानिर्देश आने के बाद जिला स्तर के कर्मचारियों को राज्य स्तर से ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। गाइडलाइन के मुताबिक टीकाकरण में लगे लोगों को सेंसटाइजेशन जरूरी है। इस प्रशिक्षण के बाद ही टीकाकरण शुरू होगा। अभी राज्य सरकार के वैक्सीन डीपो में कोवैक्सीन के 8 लाख डोज मोजूद हैं। राज्य टीकाकरण अधिकारी का कहना है, जल्दी ही इसकी अनुमानित मांग केंद्र सरकार को भेज दी जाएगी, ताकि समय पर आपूर्ति मिल सके।

बच्चों के लिए एक जनवरी से पंजीयन होगा

डॉ. भगत ने बताया, बच्चों के लिए टीकाकरण का ऑनलाइन पंजीयन एक जनवरी से शुरू होगा। इसके लिए कोविन पोर्टल पर नई लिंक बनाई जा रही है। पहचान के लिए 10वीं कक्षा के स्कूल पहचानपत्र को भी मान्यता दी गई है। आधार अब भी प्रमुख पहचानपत्र के तौर पर शामिल है। बताया जा रहा है, इसमें पहले की तरह ऑनसाइट पंजीयन की सुविधा भी मिल सकती है।

बुजुर्गों को 10 जनवरी से बूस्टर डोज

स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंट लाइन वर्कर और 60 से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना टीके की एक बूस्टर डोज भी लगाई जानी है। टीकाकरण का यह दौर 10 जनवरी से शुरू होगा। इसके तहत दो टीकों की डोज ले चुके लोगों को उसी टीके की एक और डोज दी जानी है। राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. वीआर भगत ने बताया, प्रदेश में 3 लाख 20 हजार फ्रंट लाइन वर्कर, 3 लाख 40हजार स्वास्थ्यकर्मी और करीब 16 लाख बुजुर्गों को बूस्टर डोज देने की तैयारी है।

टीकाकरण के लिए ऐसे कराएं ऑनलाइन पंजीयन

- सबसे पहले कोविन ऐप पर जाएं। अपना मोबाइल नंबर डालें। एक OTP आएगा इसे डालकर लॉग इन करें।

- अब आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, पेंशन पासबुक, NPR स्मार्ट कार्ड, वोटर ID, यूनीक डिसएबिलिटी ID या राशन कार्ड में से कोई एक फोटो ID प्रूफ को चुनें।

- अपने द्वारा चुनी गई ID प्रूफ का नंबर, नाम डालें। इसके बाद जेंडर और जन्मतिथि को चुनें।

- मेंबर ऐड होने के बाद आप अपने निकटतम एरिया का पिन कोड डालें। यहां टीकाकरण केंद्रों की पूरी सूची आ जाएगी।

- इस सूची में टीकाकरण केंद्र चुनें, टीकाकरण की तारीख, समय और वैक्सीन का नाम चुनें।

- टीकाकरण केंद्र पर आपको रिफरेंस नंबर और सीक्रेट कोड की जानकारी देनी होगी। जो आपको पंजीयन करने पर मिलती है।

कोवैक्सिन को 12 से 18 साल के बच्चों पर इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

ड्रग्स कंट्रोलर ने भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को 12 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है। लेकिन सरकार अभी 15 से 18 वर्ष तक की आयु वालों को ही यह टीका लगा रही है। बताया जा रहा है, चूंकी एक ही टीका इसके लिए उपलब्ध है ऐसे में सरकार सीमित ग्रुप के साथ आगे बढ़ना चाहती है।

छत्तीसगढ़ में कल मिले सभी मरीजों में ओमिक्रॉन की आशंका:एक दिन में ही मिले हैं 49 कोरोना पॉजिटिव, सभी की जीनोम सीक्वेंसिंग की तैयारी

खबरें और भी हैं...