लॉकडाउन के बाद की जिंदगी / ऑड-ईवन पैटर्न पर बच्चे आएंगे स्कूल, सिलेबस 25% होगा कम, शनिवार को भी फुल डे क्लास

Children will come to school on Odd-Even pattern, syllabus will be 25% less, full day class on Saturday too
X
Children will come to school on Odd-Even pattern, syllabus will be 25% less, full day class on Saturday too

  • कल्चरल-स्पोर्ट्स इवेंट नहीं होंगे, इससे बचेंगे 20 दिन

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 11:12 AM IST

रायपुर. सीबीएसई ने संकेत दिए हैं कि 15 जुलाई के बाद देशभर में स्कूल शुरू किए जा सकते हैं। संक्रमण के खतरे से बचने के लिए सीबीएसई स्कूलों में कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। इसमें सबसेे बड़ा चेंज होगा बच्चों ऑड ईवन पैटर्न पर आने की परमिशन। हर स्कूल में स्टूडेंट्स को उनके रोल नंबर (आईडी नंबर) के आधार पर ऑड-ईवन पैटर्न पर बुलाया जाएगा। इस तरह एक बच्चा हफ्ते में तीन दिन स्कूल आएगा। बाकी तीन दिन उसे घर से ही ऑनलाइन क्लासेस अटैंड करनी होंगी। वहीं, पहली से 12वीं तक का सिलेबस 25 से 30 परसेंट तक कम किया जा सकता है। शनिवार को हाफ डे के बजाय फुल क्लासेस लगाई जाएंगी।

  • 40 सीबीएसई स्कूल हैं शहर में 
  • 60 हजार स्टूडेंट इन स्कूलों में पढ़ाई करते हैं
  • 1500 टीचर हैं सीबीएसई स्कूलों में 
  • 500 स्कूल बस रोज चलती हैं शहर में

इन बड़े बदलावों के साथ शुरू होंगे शहर के सीबीएसई स्कूल
1. सिलेबस

  • स्कूल जुलाई से खुल सकते हैं। सिलेबस पूरा करने कम समय मिलेगा। लिहाजा, सिलेबस 25% तक कम करेंगे। 
  • किसी क्लास में अगर मैथ्स के 20 लेसन हैं तो उसे 16 लेसन तक किया जा सकता है।

2. होमवर्क

  • हर क्लास में होमवर्क लिखवाने में 7 से 8 मिनट लगते हैं। होमवर्क नोट कराने के बजाय अब प्रिंटेड वर्कशीट दी जाएंगी। जो समय बचेगा उसमें पढ़ाई होगी। 
  • स्पोर्ट्स और कल्चरल इवेंट: हर स्कूल में एनुअल इवेंट्स लगभग 20 दिन चलते हैं। इस साल इवेंट नहीं कराए जाएंगे। इससे पढ़ाई के लिए ज्यादा समय मिलेगा।  

3. शनिवार-रविवार को भी क्लास:

  • शनिवार को हाफ डे के बजाय फुल क्लास लगेगी। अगर अगस्त में स्कूल शुरू होता है तो सात महीने के हिसाब से 28 शनिवार होते हैं। फुल डे क्लास लगने से 3 पीरियड बढ़ेंगे। यानी कुल 84 पीरियड एक्स्ट्रा मिलेंगे। कुछ स्कूल रविवार को भी क्लासेस लगाने की प्लानिंग कर रहे हैं। 

4. जनरल इंस्ट्रक्शन

  • एक सेक्शन के स्टूडेंट्स दूसरे सेक्शन में नहीं जा सकेंगे। सिलेबस पूरा करने फेस्टिवल और विंटर वेकेशन की छुट्टियां कम की जाएंगी।
  • स्कूलों में एक से ज्यादा एंट्री-एग्जिट पाॅइंट बनाए जाएंगे, ताकि एक ही समय भीड़ न हो
  • बैंचेस एक से डेढ़ फीट की दूरी पर रखेंगे। जहां पहले दो स्टूडेंट बैठते थे वहां अब एक बैठेगा, ताकि दूरी बनी रहे।

5. सैनिटाइजेशन

  • स्कूल बसों को रोज अंदर, बाहर से सैनिटाइज करेंगे। हर तीसरे दिन पूरा कैंपस सैनिटाइज करेंगे। 
  • रोज बैंचेस, चेयर्स, ब्लैकबोर्ड, डाइस जैसे सामानों को सैनिटाइज किया जाएगा।
  • टीचर्स, स्टूडेंट काे मास्क पहनना अनिवार्य।

इन पर रहेगी पाबंदी

  • स्कूल खुलने के कुछ दिनों तक प्रेयर नहीं होगी।
  • स्कूल की कैंटीन बंद रहेंगी।
  • बच्चों को घर से ही लाई गई चीजें खाने प्रेरित करेंगे। टिफिून शेयर न करने के भी निर्देश देंगे।  
  • हर क्लास के स्टूडेंट्स के लिए पीने के पानी की अलग व्यवस्था हाेगी।
  • कैंपस मेंं ग्रुप बनाकर खेलना, पढ़ना बैन रहेगा। 

हमने इनसे की बातचीत
रघुनाथ मुखर्जी, डीपीएस
एसके तोमर, एनएच गोयल
आशुतोष सिंह, होली हार्ट्स स्कूल
आशुतोष त्रिपाठी, केपीएस
साधना गुप्ता, द ग्रेट इंडिया स्कूल

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना