रामवनगमन पथ:सीएम भूपेश बोले- दूसरों के लिए राम वोट हमारे लिए संस्कृति, उन्हें भांजे का दर्जा भी

रायपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
चंदखुरी के लिए मंत्रिमंडल के सदस्यों के साथ बस से रवाना हुए सीएम भूपेश - Dainik Bhaskar
चंदखुरी के लिए मंत्रिमंडल के सदस्यों के साथ बस से रवाना हुए सीएम भूपेश
  • चंदखुरी में कौशल्या माता मंदिर परिसर के सौंदर्यीकरण का लोकार्पण

सीएम भूपेश बघेल ने भगवान राम के बहाने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों के लिए राम केवल एक वोट हैं लेकिन हमारी तो संस्कृति में राम बसे हुए हैं। क्योंकि हमारे यहां भगवान राम को भांजे का दर्जा दिया गया है। वहीं उन्होंने लखीमपुर की घटना को किसी अन्य घटना से जोड़ने पर भाजपा नेताओं पर भड़कते हुए कहा कि यदि उन्हें मुआवजा से आपत्ति है तो अपने मंत्री का इस्तीफा मांगकर बताएं।

राम वन गमन पथ पर्यटन परिपथ के महत्वपूर्ण पड़ाव माता कौशल्या मंदिर चंदखुरी के लोकार्पण के पहले सीएम भूपेश ने पत्रकारों से यह बातें कहीं। उन्होंने कहा कि हम सब राम को अलग-अलग रूप में देखते हैं। कुछ लोगों के लिए राम केवल वोट हैं। उनके सहारे कई लोग वैतरणी पार करना चाहते हैं। हम लोग राम को भांजा राम, वनवासी राम, गांधी के राम, कबीर के राम, तुलसी के राम और शबरी के राम के रूप में देखते हैं। हम गांधी के अनुयायी हैं जिनके मुंह से मरते समय भी राम का ही नाम निकला था। मुख्यमंत्री ने तत्कालीन भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 15 साल सरकार में रहे लेकिन उन्होंने इस संस्कृति के संरक्षण के लिए, राम वन गमन पथ और माता कौशल्या मंदिर के लिए कुछ नहीं किया।

सीएम भूपेश ने लखीमपुर के किसानों को मुआवजा देने के मामले में भाजपा द्वारा उठाए गए सवाल पर कहा कि लखीमपुर की घटना को किसी अन्य घटना से नहीं जोड़ा जा सकता। क्योंकि वहां किसानों की हत्या की गई है। बहुत ही वीभत्स घटना है। इससे किसी दूसरी घटना की तुलना हो ही नहीं सकती। क्यांेकि ऐसी घटना आजाद भारत के इतिहास में कभी देखा-सुना नहीं गया। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर जीप चढ़ाकर रौंद दिया है। सीएम ने कहा कि सिलगेर की दुर्भाग्यपूर्ण घटना पूरी तरह अलग है। घटना के बाद सत्ता पक्ष के विधायक पीड़ित परिवारों से मिलने पहुंचे। मैंने खुद उन परिवारों से वर्चुवल, टेलिफोनिक और कुछ दिन बाद उन्हें यहां बुलाकर बात की। उन्होंने किसी तरह का मुआवजा और सरकारी नौकरी लेने से मना कर दिया। मुख्यमत्री ने पूछा कि विपक्ष के रूप में पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, सरोज पाण्डेय और उनके दूसरे नेताओं ने कितनी बार उन परिवारों से बात की है। अगर बात की है तो बताएं।

भाजपाईयों पर भड़के:लखीमपुर घटना की भाजपा ने निंदा क्यों नहीं की
सीएम ने कहा कि वहां पंजाब के मुख्यमंत्री ने भी मुआवजे की घोषणा की है। भाजपा के नेताओं को, रमन सिंह को यह मदद इतनी बुरी लग रही है, तो क्या उन्हें लखीमपुर का हत्याकांड बुरा नहीं लगा। उसकी निंदा क्यों नहीं की। मुख्यमंत्री ने कहा, रमन सिंह को अगर लखीमपुर की घटना का बुरा लगा हो तो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग करें। उसके बेटे को हत्या के मामले में गिरफ्तार करने की मांग उठाएं।

देश-दुनिया के लिए खुला रामवनगमन मार्ग, छग के जनमन में रचे बसे हैं राम: भूपेश
छत्तीसगढ़ का राम वन गमन पथ देश औैर दुनिया के लिए खुल गया है। सीएम भूपेश ने माता कौशल्या की नगरी चंदखुरी में राम वन गमन पर्यटन परिपथ परियोजना के प्रथम चरण का गुरुवार को लोकार्पण किया। सीएम भूपेश ने तीन दिवसीय भव्य समारोह का शुभारंभ करते हुए कहा कि भगवान राम का छत्तीसगढ़ से बड़ा गहरा नाता है। भगवान राम का छत्तीसगढ़ के जन जीवन, लोक संस्कृति, लोक गीत में गहरा प्रभाव देखने मिलता है। भगवान श्री राम ने वनवास की 14 साल की अवधि में से लगभग 10 साल छत्तीसगढ़ में बिताए। मुख्यमंत्री ने माता कौशल्या की नगरी चंदखुरी को प्रणाम करते हुए सभी लोगों को नवरात्रि पर्व की बधाई दी। उन्होंने कहा कि यहां का वातावरण ऐसा लग रहा है जैसे माता कौशल्या भगवान राम को लेकर मायके चंदखुरी आई है, पूरा दृश्य मनोरम हो गया है। चंदखुरी ही नहीं पूरा छत्तीसगढ़ भगवान श्री राम का ननिहाल है। सीएम ने चंदखुरी में तीन दिन तक आयोजित होने वाले रंगारंग सांस्कृतिक एवं धार्मिक कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुए कहा कि यहां तीन दिन तक छत्तीसगढ़ सहित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कलाकार स्तर के कलाकार प्रस्तुति देंगे। उन्होंने राम वन गमन पर्यटन परिपथ के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि कोरोना के बावजूद छत्तीसगढ़ में जनसुविधा के रिकार्ड काम हुए हैं। इस दौरान रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर, डा.शिव डहरिया, अमरजीत भगत एवं सभी मंत्री, विधायक तथा सांसद माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...