प्रदेश में बढेगी ठंड:बस्तर को छोड़ पूरे छत्तीसगढ़ में ठंड, पर बादलों के कारण आज से मिलेगी राहत

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नेशनल हाइवे 30 पर बुधवार सुबह सड़क पर कोहरा छाया रहा। - Dainik Bhaskar
नेशनल हाइवे 30 पर बुधवार सुबह सड़क पर कोहरा छाया रहा।

प्रदेश में मौसम शुष्क है और बस्तर को छोड़कर सभी जगह रात का तापमान सामान्य से 2 से 4 डिग्री तक कम हो गया है। इस वजह से सभी जगह रात में ठंड बढ़ गई है लेकिन गुरुवार से मौसम बदलने लगेगा। अंडमान के आसपास कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण प्रदेश में हल्की नमी आएगी, इसलिए रात की ठंड गुरुवार से ही कम होने की संभावना है।

3 दिसंबर से कुछ जगह बदली-बारिश के हालात भी बनेंगे और 5 दिसंबर तक मौसम ऐसा ही रहेगा। इसके बाद आसमान साफ होगा और रात का तापमान फिर कम होगा अर्थात ठंड बढ़ने लगेगी।

छत्तीसगढ़ में दिसंबर के महीने में ही सबसे ज्यादा ठंड पड़ती है, लेकिन लगातार बदलते हालात की वजह से दिसंबर का पहला हफ्ता कुछ राहत वाला हो सकता है। समुद्र से नमी आने की वजह से गुरुवार से मौसम फिर बदलेगा और बारिश जैसे हालात बनेंगे। हालांकि बुधवार को प्रदेश के उत्तरी हिस्से में कई जगह अच्छी ठंड पड़ी है।

बिलासपुर में न्यूनतम तापमान 13.4 डिग्री रिकार्ड किया गया, जो सामान्य से करीब दो डिग्री कम है। पेंड्रारोड में 11.1 रहा। यह सामान्य से 1.3 डिग्री कम है। सामान्य के लिहाज से दुर्ग में काफी ज्यादा ठंड रहा।

यहां न्यूनतम तापमान 11.9 डिग्री रिकार्ड किया गया, लेकिन यह सामान्य से 3.7 डिग्री कम था। इसके विपरीत, रायपुर में न्यूनतम तापमान 15.6 डिग्री रिकार्ड किया गया।

यह सामान्य से 1.3 डिग्री अधिक है, यानी शहर में ठंड थोड़ी कम हुई है। माना एयरपोर्ट में भी 15.8 रहा, जो सामान्य से 2.4 डिग्री अधिक था। जगदलपुर में न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रिकार्ड किया गया। यह सामान्य से 2.1 डिग्री अधिक है, लेकिन पिछले 24 घंटे के दौरान 2.2 डिग्री नीचे गिरा है।

प्रदेश में बादल इसलिए हो सकती है बारिश
मौसम विभाग के अनुसार मध्य अंडमान सागर और उसके आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र है। साथ ही ऊपरी हवा का चक्रवात है। यह पश्चिम और उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ते हुए 2 दिसंबर को प्रबल होकर अवदाब में बदल जाएगा। अगले 24 घंटे के दौरान यह फिर से प्रबल होकर एक चक्रवात के रूप में मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर पहुंचेगा।

यह उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर आगे बढ़ते हुए और अधिक प्रबल होकर चार दिसंबर को सुबह उत्तर आंध्र प्रदेश- ओड़िशा तट के पास पहुंच सकता है। इसके असर से छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों मंे 3 से 5 दिसंबर तक मौसम बदलेगा। कहीं-कहीं पर बदली-बारिश के हालात भी बनेंगे।

खबरें और भी हैं...