पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बॉलीवुड को छत्तीसगढ़ का न्योता:प्रदेश में फिल्म शूटिंग की अनुमति देने के लिए कलेक्टर अधिकृत, लोक सेवा कानून के तहत 30 दिन में NOC की गारंटी

रायपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ क्षेत्रीय सिनेमा का महत्वपूर्ण गढ़ है। इसके अलावा कई बड़े फिल्मकार भी यहां के प्राकृतिक लोकेशन पर शूटिंग के अवसर तलाशते रहते हैं। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ क्षेत्रीय सिनेमा का महत्वपूर्ण गढ़ है। इसके अलावा कई बड़े फिल्मकार भी यहां के प्राकृतिक लोकेशन पर शूटिंग के अवसर तलाशते रहते हैं।

कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की दिक्कतों के बीच सिनेमा उद्योग के लिए एक राहत भरी खबर है। सरकार ने फिल्म की शूटिंग के NOC, पंजीयन और नवीनीकरण के के लिए सिंगल डैश बोर्ड की सुविधा शुरू कर दी है। NOC जारी करने के लिए कलेक्टर को अधिकृत किया गया है। पिछले दिनों रायपुर में फिल्म सिटी के निर्माण पर भी सरकार ने योजना बनाई थी। अब इसमें भी तेजी आने के संकेत हैं। प्रदेश के कई प्राकृतिक खूबसूरती वाले लोकेशन्स को देखते हुए यह समझा जा रहा है कि यदि यहां फिल्मों की शूटिंग में मदद की गई तो बॉलीवुड के निर्माता-निर्देशक भी आकर्षित होंगे।

समय सीमा में प्रमाणपत्र जारी करने के लिए इसे लोक सेवा गारंटी कानून में भी शामिल कर लिया गया है। अब आवेदन देने के 30 दिनों के भीतर कलेक्टर को प्रमाणपत्र देना होगा। संस्कृति विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी की है। अधिसूचना के मुताबिक फिल्म शूटिंग के लिए निःशुल्क अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने जिले के कलेक्टर को अधिकृत किया गया है। इस सेवा के सुचारू क्रियान्वयन के लिए संभागायुक्त को सक्षम अधिकारी एवं संचालक संस्कृति को अपीलीय अधिकारी बनाया गया है। इस सेवा को छत्तीसगढ़ लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अंतर्गत सम्मिलित करते हुए 30 दिवस की समयावधि निर्धारित की गई है।

संस्कृति विभाग में विशेष सेल करेगा मदद

अधिकारियों ने बताया, फिल्म निर्माण के लिए अनापत्ति प्राप्त करने की आवेदन प्रक्रिया के संबंध में आवश्यक जानकारी के लिए विभाग में एक फिल्म सेल का गठन किया गया है। इसमें फिल्म निर्माण से जुड़े परामर्श एवं मार्गदर्शन भी उपलब्ध होगा।

मैनपाट में तिब्बती कैम्प, बुद्धिष्ट मंदिर और जलवायु हिल स्टेशन शिमला का अहसास कराते हैं। मैनपाट में 20 से 25 पर्यटन प्वाइंट हैं। इनमें टाइगर प्वाइंट, मेहता प्वाइंट, फिश प्वाइंट, किंग प्वाइंट, परपटिया व्यू, बौद्ध मंदिर और उल्टा पानी व जलजली शामिल है।
मैनपाट में तिब्बती कैम्प, बुद्धिष्ट मंदिर और जलवायु हिल स्टेशन शिमला का अहसास कराते हैं। मैनपाट में 20 से 25 पर्यटन प्वाइंट हैं। इनमें टाइगर प्वाइंट, मेहता प्वाइंट, फिश प्वाइंट, किंग प्वाइंट, परपटिया व्यू, बौद्ध मंदिर और उल्टा पानी व जलजली शामिल है।

प्रदेश के ये लोकेशन्स किसी से कम नहीं

फिल्म इंडस्ट्री को यदि कनेक्टिविटी, शासन की मदद, सुरक्षा और सुविधाएं मिल जाएं तो छत्तीसगढ़ में ऐेसी खूबसूरत, हरी-भरी वादियों, झील-झरनों की कमी नहीं है जो देश-विदेश के लोकेशन्स को टक्कर दे सके। बस्तर का चित्रकोट जलप्रपात जब पूरी रवानी में होता है तो विश्वप्रसिद्ध नियाग्रा फाल की याद दिला देता है। यहां का तीरथगढ़ फॉल, कुटुमसर की गुफाएं, दंतेवाड़ा की घाटियां, ढोलकाल की पहाड़ियां और अनदेखे कई झरने ऐेसे हैं जो सभी तरह की फिल्मों के लिए परफेक्ट लोकेशन हो सकते हैं।

कवर्धा का चिल्फी, भोरमदेव, सूपखार के जंगल, मुंगेली का अचानकमार टाइगर रिजर्व, सरगुजा का मैनपाट, कोरिया का अमृतधारा जलप्रपात, राजिम का त्रिवेणी संगम, प्रदेश के कई जिलों से गुजरती महानदी का विशाल रेतीला पाट, इंद्रावती नदी के किनारे, अमरकंटक से लगे हुए घने जंगल जैसे अनगिनत स्थान यहां मौजूद है। बॉलीवुड के निर्माता-निर्देशकों की नजर यदि इन नजारों पर पड़ जाए और सरकार उन्हें सुरक्षा, सुविधाएं देने का वादा करे तो जल्दी ही छत्तीसगढ़ फिल्मी दुनिया का चहेता लोकेशन हो जाएगा।

राजकुमार राव और पंकज त्रिपाठी की फिल्म 'न्यूटन' की शूटिंग छत्तीसगढ़ के दल्ली राजहरा के जंगलों में की गई थी।
राजकुमार राव और पंकज त्रिपाठी की फिल्म 'न्यूटन' की शूटिंग छत्तीसगढ़ के दल्ली राजहरा के जंगलों में की गई थी।

ऑस्कर में भेजी गई न्यूटन की शूटिंग हुई है

छत्तीसगढ़ में पिछले कुछ सालों में छत्तीसगढ़ी और भोजपुरी फिल्मों की लगातार शूटिंग हुई है। एक अनुमानित आंकड़ें के मुताबिक 250 फिल्मों की शूटिंग यहां के अलग-अलग लोकेशन्स पर हो चुकी है। गानों के कई एलबम और शार्ट फिल्म व डाक्यूमेंट्री भी शूट हो चुकी है। लेकिन बॉलीवुड को प्रदेश आकर्षित नहीं कर पाया है। बॉलीवुड निर्माताओं ने पिछले सालों में महज 3-4 फिल्मों की लोकेशन्स के लिए प्रदेश को चुना। इसमें सबसे महत्वपूर्ण राजकुमार राव स्टारर न्यूटन है। इसे ऑस्कर के लिए भी भेजा गया था।

नक्सल इलाके में चुनाव कराने के विषय पर आधारित इस फिल्म की शूटिंग दल्ली-राजहरा समेत कुछ स्थानों में हुई थी। एक और चर्चित फिल्म भूलन-द मेज की शूटिंग भी प्रदेश में हुई है। यदि प्रदेश में फिल्म निर्माण को सहयोग की बात होती है तो निश्चित रूप से बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग के साथ-साथ रोजगार भी तेजी से बढ़ेगा।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

और पढ़ें