पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का अप्रैल:शोक संदेश- रायपुर में मौतें 1001; 6 दिन में 37 हजार मरीज, अब हर दिन 6,180 के औसत से मरीज मिल रहे हैं

रायपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंगलवार को प्रदेश में 9921 केस 53 मौतें, रायपुर में हर घंटे एक जान गई, 26 मौत
  • दफ्तरों में कोरोना; विधानसभा, मंत्रालय, रजिस्ट्री दफ्तर, आरडीए सहित कई सरकारी कार्यालय हुए सील
  • खम्हारडीह टीआई, पंडरी, कोतवाली, कबीरनगर, महिला थाना के एक दर्जन से अधिक पुलिस अफसर-कर्मचारी संक्रमित

अप्रैल के पहले 6 दिन प्रदेश के लिए कोरोना के लिहाज से आफत भरे साबित हुए हैं। अब तक दोनों लहरों के दौर में एक ही दिन में मंगलवार को सर्वाधिक 10 हजार के करीब (9921) केस मिले और 53 मौतें हुई हैं। रायपुर में भी एक ही दिन में 2821 मामले सामने आए, जबकि 26 मौतें हुई हैं। राजधानी में 1001 व प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 4400 पार कर गई। राजधानी में पहली मौत 29 मई को हुई थी।

इस हिसाब से 312 दिनों में रोजाना औसतन 3.20 मरीजों की मौत हुई हैं। वहीं प्रदेश में रोजाना 14 से ज्यादा मरीजों की जान कोरोना से गई है।कुल माैत में केवल काेराेना से 30 से 35 फीसदी व बाकी मौत कोरोना के साथ दूसरी बीमारियों से हुई है। रायपुर में मंगलवार को 26 लोगों की मौत हुई। यानी हर घंटे एक से ज्यादा मरीजों की मौत हो रही है। प्रदेश में 53 लोगों की मौत हुई, जिसमें 27 की मौत केवल कोरोना से हुई है। जिन लोगों की सबसे ज्यादा मौत हो रही है, उनमें 50 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले लोग शामिल हैं।

युवाओं की मौत भी लगातार हो रही है। हालांकि इनकी संख्या 10 फीसदी से कम है। को-मार्बडिटी के अंतर्गत डायबिटीज, बीपी, सांस में तकलीफ के अलावा लीवर, कैंसर, किडनी, अस्थमा व दूसरी बीमारी के मरीजों की मौत हो रही है। प्रदेश में अब हर दिन 6,180 के औसत से मरीज मिल रहे हैं। कोरोना के पूरे दौर में मरीजों का प्रतिदिन औसत इतना कभी नहीं रहा। यही नहीं, प्रदेश में अब एक्टिव यानी अस्पताल या होम आइसोलेशन में इलाज करवा रहे मरीजों की संख्या भी 52 हजार के पार हो गई है।

सरकारी दफ्तरों में कोरोना के बढ़ते मरीजों की वजह से अब विभागों को दो से पांच दिन के लिए सील किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ विधानसभा से लेकर जिला स्तर के कई सरकारी कार्यालयों और उनके विभागों को बंद कर दिया गया है। कई विभागों में तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों की 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ उन दफ्तरों के संचालन के आदेश भी जारी किए जा रहे हैं। रिहायशी इलाकों में पांच से ज्यादा मरीज मिलने पर प्रशासन उन इलाकों को 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन कर रहा है। कोरोना अब जिस तेजी से फैल रहा है उससे रिहायशी इलाके ही नहीं सरकारी और निजी दफ्तर भी प्रभावित हो रहे हैं। कुछ सरकारी दफ्तरों में पिछले एक-डेढ़ महीने में 35 से ज्यादा कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिल गए हैं। कुछ-कुछ दफ्तरों को 48 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है जबकि कुछ सरकारी दफ्तरों ने कोरोना मरीज मिलने वाले संबंधित विभागों को सैनिटाइजेशन के बाद 48 घंटे के लिए बंद कर दिया है। आधा दर्जन कोरोना मरीज मिलने के बाद छत्तीसगढ़ विधानसभा के अवर सचिव ने विधानसभा को पांच दिन के लिए बंद करने का आदेश जारी कर दिया है। विधानसभा 7 से 11 अप्रैल बंद रहेगी।

विधानसभा, मंत्रालय, रजिस्ट्री दफ्तर, आरडीए सहित कई सरकारी कार्यालय हुए सील
यहां एक डिप्टी सेक्रेटरी, तीन अंडर सेक्रेटरी और कुछ स्टाफ तथा उनके परिवार वाले संक्रमित हैं। जिला प्रशासन ने जिला पंजीयन कार्यालय को भी 48 घंटे के लिए बंद कर दिया है। जिला पंजीयन बीएस नायक व मुख्य उपपंजीयक मंजूषा मिश्रा ने बताया कि यहां कोरोना के सात मरीज मिले हैं तथा 30 संदिग्ध लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट किया गया है। इनकी रिपोर्ट नहीं आई है। यदि इनमें से कुछ लोगों की रिपोर्ट पाजीटिव आई तो संक्रमितों की संख्या बढ़ जाएगी। इसी तरह कलेक्टोरेट के नजूल शाला में भी 5 से ज्यादा कोरोना मरीज मिले हैं। कलेक्टर ने तत्काल संबंधित विभाग को 48 घंटे के लिए सील करने का आदेश जारी कर दिया। नगर निगम मुख्यालय या किसी भी जोन में एक साथ पांच या उससे ज्यादा मरीज नहीं मिले हैं। इसलिए निगम के किसी भी दफ्तर या विभाग को फिलहाल बंद नहीं किया गया है। बिजली कंपनी के डंगनिया मुख्यालय में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम करने के आदेश मंगलवार को जारी किए गए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें