• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Congress MLAs Who Have Been Camping In Delhi For Two Days Are Returning, Singhdev Said, They Had Gone As A Tourist, May Not Have Met

दिल्ली गए MLA खाली हाथ!:दो दिन रुके विधायकों की किसी सीनियर कांग्रेसी नेता से मुलाकात नहीं हुई, सिंहदेव बोले- वे तो सैलानी बनकर गए थे

रायपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक बृहस्पत सिंह कांग्रेस विधायकों की इस नई मोर्चेबंदी की अगुवाई कर रहे थे। - Dainik Bhaskar
विधायक बृहस्पत सिंह कांग्रेस विधायकों की इस नई मोर्चेबंदी की अगुवाई कर रहे थे।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के 10 विधायक शुक्रवार को दिल्ली से वापस लौट रहे हैं। पिछले दो दिनों से दिल्ली में डेरा डाले विधायकों से किसी वरिष्ठ नेता ने मिलना ठीक नहीं समझा है। इधर, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा है कि विधायकों ने पहले ही कहा था वे सैलानी बनकर आए हैं। हो सकता है किसी से मुलाकात न हो पाई हो।

रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह की अगुवाई में मंगलवार शाम दिल्ली गए नेताओं ने कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की कोशिश की। बाद में बात छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया से मिलने की कोशिश हुई। प्रियंका गांधी के उत्तर प्रदेश दौरे की वजह से पीएल पुनिया भी लखनऊ में हैं। ऐसे में उनसे भी मुलाकात नहीं हो पाई। विधायक बृहस्पत सिंह ने गुरुवार को कहा था कि अभी किसी से मुलाकात नहीं हुई है। सभी विधायक अभी अपने निजी काम में हैं। शाम को मुलाकात संभव है।

रात में बताया कि शाम को भी किसी से मुलाकात नहीं हो पाई। शुक्रवार दोपहर तक विधायकों को समझ में आ गया कि यहां बने रहने को कोई फायदा नहीं है। उसके बाद उनके लौटने का कार्यक्रम तय हो गया। बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ विधायक शिमला जाने की तैयारी में हैं। वहां से घूमते हुए वापस छत्तीसगढ़ लौटेंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कल कहा था कि विधायकों के दिल्ली जाने काे राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए।

सिंहदेव बोले- पार्टी में कोई खींचतान नहीं, संभावना है
रायपुर में प्रेस से बात करते हुए सिंहदेव ने कहा कि पार्टी के अंदर खींचतान नहीं, बल्कि संभावना है। हाईकमान ने हम सबको बुलाया था। अब क्या होना है यह निर्णय हाईकमान के पास सुरक्षित है। अभी फैसला नहीं हुआ, ये माना जाना चाहिए। सिंहदेव ने कहा कि अभी किसी को जानकारी नहीं है कि हाईकमान ने क्या निर्णय लिया है।

प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम राजीव भवन में पत्रकारों से चर्चा की।
प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम राजीव भवन में पत्रकारों से चर्चा की।

अनुशासनात्मक कार्रवाई पर असमंजस में पार्टी
पार्टी विधायकों के बार-बार दिल्ली दौड़ और बयानबाजी को अनुशासनहीनता मानने में कांग्रेस नेतृत्व असमंजस में दिख रहा है। शुक्रवार को प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि मीडिया में जो बातें आई हैं, वो संगठन के संज्ञान में है। समय आने दीजिए, इसमें क्या होगा, वो पता चलेगा। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि समय की कोई मियाद नहीं है। मरकाम ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मंत्री टीएस सिंहदेव ने भी कहा है कि विधायकों के आने-जाने पर कोई रोक नहीं है।

यह विधायक गए थे दिल्ली
दिल्ली जाने वाले विधायकों के दल में बृहस्पत सिंह, गुरुदयाल बंजारे, मोहित केरकेट्‌टा, डॉ. विनय जायसवाल, द्वारिकाधीश यादव, यूडी मिंज, पुरुषोत्तम कंवर, रामकुमार यादव, चंद्रदेव राय और प्रकाश नायक शामिल हैं। इनमें से अधिकतर पहली बार विधायक बने हैं।

असम कांग्रेस की बैठक में प्रभारी सचिव और छग के विधायक विकास उपाध्याय।
असम कांग्रेस की बैठक में प्रभारी सचिव और छग के विधायक विकास उपाध्याय।

विकास ने गुवाहाटी में मोर्चा संभाला
उधर, छत्तीसगढ़ के संसदीय सचिव और कांग्रेस के असम प्रभारी सचिव विकास उपाध्याय ने गुवाहाटी में मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने आज असम कांग्रेस के नेताओं की बैठक में विधानसभा उपचुनाव पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि उप चुनाव में पार्टी का उम्मीदवार कौन होगा इसे स्थानीय स्तर पर तय करना है। शर्त केवल इतनी है कि उसमें पूरी तरह कांग्रेस का खून मौजूद हो। हमें ऐसे व्यक्तियों से दूर रहने की जरूरत है जो लालच में अपनी मातृ पार्टी को छोड़ने एक मिनट भी विलंब नहीं करते।

खबरें और भी हैं...